Advertisement

मासिकधर्म के दौरान सिर्फ एक वस्त्र में थी द्रौपदी, ऐसे हालत में हुआ था चीरहरण!

"द्रौपदी के हुए अपमान की अग्नि से कौरव जल के भष्म हो गए, लेकिन द्रौपदी के साथ हुआ अपमान कितना भयंकर था ये बहुत कम लोग जानते है! जाने शर्मनाक फैक्ट्स उस घटना के "

Advertisement


महाभारत का असली नाम "भारत संहिता" है, जो की वेदव्यास रचित 6 खंडो का ग्रन्थ है, चार वेदो को एक पलड़े में और महाभारत को दूसरे में रखने पर भरत संहिता ही भारी पड़ी! पहले ही अध्याय में ऐसी बात लिखी है जो हम नहीं जानते है और बेहद निंदनीय थी!

जी हाँ द्रौपदी का चीर-हरण, जो की एक ऐसा कुकृत्य था जो आने वाली नस्लों के लिए एक सबक है! धर्म के अवतार युधिष्ठिर की देववश मति मारी गई थी जो उसने वेद वाक्यों को तोड़ मरोड़ कर कहे गए शकुनि के तर्क को मानकर कृष्णा (द्रौपदी) को डाव पे लगा दिया और हार गए!

Next Slide में पढ़ें: मासिक धर्म के दौरान औरत को देखते तक नहीं थे लोग....

Advertisement
Previous 1 2 3 4 Next  
Related Content

Why war of Mahabharata was fought in Kurukshetra why not elsewhere महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में ही क्यों लड़ा गया था कही और क्यों नहीं

महापुराण महाभारत ग्रन्थ के अनुसार कुरु ने जिस क्षेत्र को बार-बार जोता था, उसका नाम कुरुक्षेत्र पड़ा कहते है की जब कुरु इस क्षेत्र की जुताई कर रहे थे

upkichaka want to kill draupadi बदले के लिए द्रौपदी को कीचक की लाश से बाँध कर श्मशान ले गए थे उपकीचक..

महाभारत के विराटपर्व के कुछ ऐसे भी राज है जो शायद कम लोग ही जानते होंगे, उनमे से एक ऐसा ही राज है उपकीचको का, वो भी द्रौपदी के लिए एक बड़ी समस्या थी लेकिन....

krishna's unmarried mother's love fight ended in mahabharata कृष्ण की माँ देवकी पांडवो की दादी न बना सके तो भड़की बदले की आग, महायुद्ध से हुई शांत

कंस पड़ा पापी थे अपने बहिन जिससे उसे प्राणो से भी ज्यादा नेह था के विवाह के लिए भी उन्हें युद्ध करवा दिए जो जीतेगा उसी से कराया जाना था देवकी का विवाह.

jarasandh born to his twin mothers half part in each womb दुर्योधन की पत्नी को पाने की चाह में कंस के ससुर ने कर्ण से किया 21 दिनों तक युद्ध

बृहद्रथ ने मगध पर अधिकार पा लिया था पर फिर भी राजा को दुःख था की उसके दो जुड़वाँ नानिया होने के बाद भी संतान नहीं है, तब राजा चण्डकौशिका ऋषि के पास गया और पुत्र

the chair of state used in earth sama आखिर क्योे समां गया सिंघासन धरती में

हिन्दू पौराणिक कथाओ के अनुसार सीता माता के बैठते ही सिंघासन धरती में समां गया कथाओ में इसके अनेक प्रमाण मिलते है धरती से नागो का एक सिंघासन निकला

shikhandi born as a girl turn into an eunuch महाभारत काल में ही हो रहे थे लिंग परिवर्तन, बच्चा भी किया पैदा!

आज भारत के हो या विदेशो के हो लोग अपने लिंग से दुखी होक महिलाये पुरुष और पुरुष महिलाये बन रहे है इसके लिए वो डॉक्टर्स की सहायता लेते है और दूसरी जिंदगी जीते है.

get life after death called reberth मरने के बाद वापिस जिन्दा होने वालो की सच्ची कहानी

ऐसी घटनाये जन्हा हिन्दू धर्म की मान्यताओ और सच्चाई को उजागर कराती है वंही पश्चिम की अनैतिकता पर भी कुठाराघात है.

 Whose invention of the discovery of India , India भारत के कुछ ऐसे आविष्कार जिनकी खोज भारत ने की लेकिन श्रय कोई और ले रहा है ! जाने

भारत में आज से हजारो साल पहले कुछ ऐसे अबिष्कार हुए थे जिनकी खोज भारत के लोगो ने की और उनका फायदा कोई और लेरहा है जाने इस अविष्कारो के बारे में किसने किए थे ....

 Ageing Dev Rameshwar is worshiped here from the ashes यहाँ रामेश्वर की भस्म से पूजा जाता है बूढ़े देव को ! जाने ये बूढ़े देव कौन है

आपने कई देवी देवताओ के बारे में सुना होगा लेकिन क्या आपने बूढ़े देव के बारे में सुना है अगर नही सुना है तो जाने इसके बारे में यहाँ बूढ़े देव के रूप में किसे ....

the worst examination of the devotees from the lord krishna भक्तो से छल: माँ बाप को आरी से जिन्दा काटना पड़ा था अपने 3 साल के पुत्र को!

एक बार अर्जुन को अपने कृष्ण के सर्वश्रेष्ठ भक्त होने का घमंड हो गया, वो सोचता था की कृष्णा ने मेरा रथ चलाया मेरे पग पग पर सहायता की वो इस लिए की में परमभक्त हु.

Largest munificent किसमे है तीनो लोको पर विजय प्राप्त करने का सामर्थ और जो है सबसे बड़ा दानवीर

करण से भी बड़ा दानवीर जिसको प्राप्त है एक ऐसा बाण जिससे वह तीनो लोको पर विजय प्राप्त कर सकता है वह जिसका नाम है बर्बरीक !

prithu was the first king of universe मृत पिता की बांह से थे जन्मे थे ध्रुव के वंशज पृथु, उन्ही के नाम पे है धरा का नाम पृथ्वी!

सतयुग में ध्रुव भक्त हुए थे उनके ही कुल में बाद में वेना नाम के एक वंशज हुए जो बड़े ही अनाचारी थे, राज्य में अकाल पड़ा था और तब पर भी वो प्रजा से कर वसूलता था.

you never heard stories of bhagwata like this कृष्णा भक्तो की अनसुनी कहानिया, जो साबित करती है कृष्ण को भक्तवत्सल

भगवान कृष्ण अनगिनत भक्त हुए है, आप सोच भी नहीं सकते की आप गिन भी नहीं पाएंगे इतने असंख्य भक्त है. नाम कुछ गिना भी दे पर सबकी अलग अलग कहानी है.

kindama rishi was of very shy nature शर्मीले थे किंदम ऋषि, झाड़ियो में रहते थे काम इच्छाओ की पूर्ति करते थे जानवर बन!

महाभारत में ऋषि किन्दमा का वर्णन है, वो इतने शर्मीले थे की वो आम इंसानो से भी दूर रहते थे, ऊके बारे में कहा जाता है की वो झाड़ियो में छुप कर रहते थे.

son of bhagwan shree krishna भगवान श्रीकृष्ण के पुत्रों के नाम, शायद आप इनके बारे मैं नहीं जानते...

पश्‍चिमी दुनिया और सभ्यता के शोधकर्ता इन दिनों भगवान श्री कृष्ण को एलियन (दूसरी दुनिया से आया मानुस ) घोषित करने में लगे हैं। और वे उन्हें अवतारी या इंसान मानने

last stage of mahabharata when pandava loose there powers जानिए भगवान कृष्ण की मृत्यु, और पांडवो के शक्तिहीन हो स्वर्ग गमन की कहानी

कृष्ण ने उसे पूर्व जनक की कहानी सुनाई जब राम रूप में उन्होंने छुप कर बाली को मारा था और भील वाही बाली था. तब बाली चुप हुआ वैकुण्ठ से गरुड़ आये.

know the facts about demon guru shukracharya भगवान विष्णु ने मारा था शुक्राचार्य की माँ को, बदले की भावना में बने दैत्यगुरु!

शुक्राचार्य का नाम तो सबने सुना ही होगा, इतना सबको पता है की वो दैत्यों और राक्षसो के गुरु थे लेकिन ये कोई नही जानता होगा की वो कौन थे कान्हा से आये थे.

sage ashthavakr bend form eight part of body due to curse in womb माँ के गर्भ में मिला था श्राप, इस कारण 8 जगहों से टेढ़े थे ऋषि अष्टावक्र!

ऋषि उड़लक एक विवेकी ऋषि थे उनका प्रिय शिस्य था कहोद, ऋषि अपने शिस्य से इतने प्रसन्न थे की उन्होंने अपनी पुत्री सुजाता का विवाह कहोद से कर दिया. जब सुजाता गर्भवती

unknown story from ramayana राम के जीजा ने कराया था अपने तपोबल को खोके रामजन्म

आप को ये जान कर हैरानी होगी की राजा दशरथ के कौशल्या से एक पुत्री थी जिसका नाम था शांता उनके पैदा होते ही अयोध्या में भयंकर सुखा पड़ा.

on occasion of ganesh chaturthi, lord ganesh's marriage story भगवान गणेश थे बालब्रह्मचारी, फिर कैसे की दो शादिया?

भगवान गणेश बालब्रह्मचारी थे लेकिन बाद में ऐसा क्या हो गया की उन्होंने एक नही दो दो शादिया की? इसके लिए पौराणो के गर्भ में जाना होगा आपको लेकिन हम है न. सति

how to use mirror for prosperity happy married life घर में बरसेंगे नोट, अगर ऎसे किया शीशे का इस्तेमाल तो

दर्पण या शीशे के बिना सजने-संवरने की कल्पना भी नहीं की जा सकती। क्या आप जानते हैं कि दर्पण के सही ढंग से इस्तेमाल करने फायदे और नुक्सान

maya sita the photo of seeta to prevent her purity क्या आप जानते है माता सीता की हमशक्ल को जिसने बचाया था सीता जी का सतीत्व?

सीता माता के हमशक्ल का नाम था माया सीता, वो अग्नि देव की रचना थी. आप ने शायद उनके बारे में न सुना हो क्योंकि हम आप को हिन्दू शाश्त्रो की वो शिक्षा नहीं मिलती है

Dharmaraja Yudhisthira was the slaughter of his own Mamasri what? क्या धर्मराज युधिस्ठिर ने किया था अपने ही मामाश्री का वध?

धर्मराज युधिस्ठिर ने ही अपने मामाश्री का वध किया था दुर्योधन ने शल्य को अपनी तरफ कर लिया था महाभारत युद्ध में शल्य कारन की सारथि बने थे!

the name vrindavan came from radha's previous berth वृन्दावन के नाम से जुड़ा है, राधा के पूर्वजन्म का रहस्य!

हालाँकि भगवान की 8 पटरानिया और 16100 रानिया थी लेकिन उनमे से किसी को भी उतनी कीर्ति नही मिली जितनी श्रीकृष्ण की पत्नी न होके भी राधा रानी को मिली थी.