Advertisement

अनुपम : प्राण प्रिय सीता ही नही सभी भाइयो और पुत्रो का भी त्याग कर दिया था राम जी ने....

"बेशर्म और बेवकूफ लोग जो ये नही जानते समझते की राजधर्म और लोकतंत्र की असल मर्यादा क्या होती है वो भगवान् राम के द्वारा प्राण प्रिय सीता के त्याग पर सवाल उठाते है"

Advertisement

बेशर्म और बेवकूफ लोग जो ये नही जानते समझते की राजधर्म और लोकतंत्र की असल मर्यादा क्या होती है वो भगवान् राम के द्वारा प्राण प्रिय सीता के त्याग पर सवाल उठाते है जो की उन्हें नरक का भागी बना देती है. ऐसे लोगो को समझने में भी दोष लगता है रामभक्तो को तो व्यर्थ चेष्ठा न करे...

लेकिन जिनकी राम जी में अटूट आस्था है वो ये भी जान ले की भगवान् राम जी ने प्राण वल्लभ सीता जी का ही नही बल्कि अपने ही अंश तीनो भाइयो का और अपने पुत्रो का भी त्याग कर दिया था और इतना कष्ट सहा था जो अब तक न तो किसी भी अवतार ने सहा होगा और न ही आगे भी ऐसा कोई अवतार होगा.


श्रीमद वाल्मीकि रामायण में माता सीता को वन में छोड़ कर आते लक्ष्मण जाते समय भी खूब रो रहे थे उनसे कुछ बोला नही जा रहा था तब पहले दशरथ के और राम जी के सारथि सुरथ ने उन्हें दुर्वासा द्वारा की गई भविष्य वाणी सुनाई जो उन्होंने दशरथ जी के साथ रहते सुनाई थी. जिसमे राम जी के अत्यधिक कष्ट सहने और सिता के वनवास का भी कारन बताया था.

देवासुर संग्राम में भृगु ऋषि की पत्नी शुक्राचार्य की माँ ने राक्षसों के अपने आश्रम में शरण दी और उन्हें मारने आये देवताओ को मरना शुरू कर दिया था. तब अदिति पुत्र वामन ने उन्हें चक्र से मार गिराया था इसपर भृगु ऋषि ने उन्हें श्राप दिया की तुम्हे भी अपनी पत्नी से वियोग सहन होगा तुम कभी उसके साथ नही रह सकोगे (चिरकाल तक).


जब भृगु को अपनी भूल का एहसास हुआ तो उन्होंने तपस्या कर भगवान् विष्णु से उनके श्राप को स्वीकार कर उनके सम्मान की रक्षा करने को कहा. तब उन्होंने त्रेता में रामावतार में इस श्राप को भुगतने का वरदान दिया जिसके फलस्वरूप गर्भवती सिता को राम जी को त्यागना पड़ा राजधर्म के चलते और इस श्राप के चलते.

इतना ही नही वो तुम्हारा भारत शत्रुघ्न और पुत्रो (लव-कुश) का भी त्याग कर देंगे ये सुन का लक्षमण को भाग्य पर विश्वास हुआ और वो शांत हो कर गए और भाई राम को साधुवाद दिया (अन्यथा उललंभ देके पाप करते), तब राम जी का भी शोक जाता रहा और दोनों ने राज्यभर फिर सम्हाला.

आगे जाके उन्होंने शत्रुघ्न को लवणासुर को मारने के बहाने त्याग दिया और उसने मथुरा बसाई, भारत जी को उनके पुत्रो के साथ जाने को कहा की अलग राज्य बसा दो दोनों पुत्रो को. लक्ष्मण को काम के सामने की गई प्रतिज्ञा के चलते प्राण दंड न दे के त्याग दिया और वो सभी भाइयो में सशरीर साकेत धाम जाने वाले पहले हुए. 

ऐसे अनुपम त्याग और दुःख भरे जीवन से भरी हुई राम कथा को सुन कर ज्ञानी जन भी रो देते है, हालाँकि साधारण लोगो को तो ये समझ ही नही आती है. जय श्री राम...


Advertisement
Related Content

the untold story of ramayana, you may not know समुद्र मंथन में बाली ने लिया था देवो की ओर से भाग, उसी में से निकली थी पत्नी तारा!

"हरी अनंत हरी कथा अनंता" का दोहा तो अपने सुना ही होगा जो की बेहद सहज है, भगवान की लीलाओ की कथा ऐसी है की कितना भी जानो कम ही पड़ेगी. ऐसे ही कुछ अनजाने तथ्य जो..

durgashaptsati path by zodiak sign can make miracle in your life व्यस्त जीवन में भी है दुर्गासप्तशती का महत्त्व, शक्ति साधको का विशेष पाठ

जिन हिन्दुस्तानियो की इष्ट माँ शेरावाली है वो दुर्गा शप्तसती का नित ध्यान करते है. उनके लिए ये एक उपासना है और वो अवश्य ही फल दायिनी है.

Why do the gods and goddesses of the last round? आखिर परिक्रमा क्यों करते है देवी-देवताओ की?

आपको यह पता होगा कि मंदिर/ देवी देवताओ की परिक्रमा की जाती है पर इसके पीछे भी कारण है और इससे भी कई लाभ मिल जाते ...

the saint surdas saaga, reason behind his blindness जन्मांध सूरदास क्यों जानते थे पूरी कृष्णा कथा, दोहो की सचित्रता का कारण

जब कृष्णा मथुरा के राजा बने तो कर्मयोग के कारण वापस वृन्दावन कभी नहीं लौट पाये. जब उन्हें ये समाचार मिला तो उन्होंने अपने परम ज्ञानी दोस्त उद्धव को गोपियों

sati shaivya, who hant allow son to come out from cloud महासती शैव्या ने पति की इच्छा पर किया था वैश्या का प्रबंध, सूर्योदय भी रोका!

हालही में गया है करवा चौथ का व्रत जो की पत्नी अपने पति की दीर्घायु के लिए रखती है, कलियुग में अब वैसी पत्निया तो नही रही जिनके सतीत्व ब्रह्माण्ड को भी हिला दे.

 Miracle cures from the woman's tongue good Vimaria चमत्कार इस महिला की जीभ से ठीक हो जाती अच्छी अच्छी विमारिया

आज में आपको जो बताने जारहा हु उसे सुनकर आपको यकीन नही होगा लेकिन ये सच है एक ऐसी महिला जिसके बारे में जानकर आप चौक जाओगे इस महिला की जीभ में कुछ इस तरह का जादू

On Saturday to avoid the evil eye to these measures must वास्तव में बुरी नजर से बचने के लिए शनिवार को ये उपाय जरूर करें

यदि जीवन मे किसी को किस्मत से अधिक नहीं मिलता जबकि ऐसा भी होता है कई बार अन्य व्यक्तिओ के कारण...

How it began and who were the first memorial कैसे शुरू हुआ और किसने किया था सबसे पहला श्राद्ध, जानिए

आप भी अपने घर में श्राद्ध करते होंगे लेकिन इसका आपको पता नहीं होगा कि ये क्यों निकला जाता है इसके द्वारा हमारे घर और पितरो को एक ...

daru tree found for making sudarshan's statue बलदाऊ के लिए पेड़ की पहचान पूरी, दारू वृक्ष से होगा निर्माण

महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के नव कलेवर हेतु बनजाग नीति पर निकले दइ तापतियों द्वारा इसकी औपचारिक घोषणा होने के उपरांत उस वृक्ष के दर्शन हेतु लोग उमड़ रहे है.

 The 'worship 'of .Shiva Rose' comes to the 'bull so the story' really अद्भुद : काशी में रोज शिव की आराधना करने आता है ये बैल, कंही नंदी तो नही???

सावन का महीना क्या आया के लोगों के साथ साथ अब जानवर भी शिवजी की पूजा अर्चना में लगे हुए है, जी हाँ आपने कई मंदिर ऐसे देखें होंगे जहाँ कुत्ते, चूहे, चिड़िया, कबूत

rakhi day of god devotee bond भगवान-भक्त के बंधन का भी दिन आता है

रक्षा का संकल्प इंसान के भीतर आत्मविश्वास लाता है। रक्षा करने का भाव इंसान को ऊर्जा से भर देता है और इस ऊर्जा के चलते ही वह बड़े से बड़ा काम कर जाता है।

for chardham yatra will postpond कुछ दिन और टली चारधाम यात्रा

उत्तराखंड में भारी बारिश की संभावनाओं के मद्देनजर शुक्रवार को चारधाम की यात्रा को कुछ और दिनों के लिए रोक दिया गया।

the unknown facts of the mahabharat war दिवाली के दिन शुरू हुआ था महाभारत का युद्ध, 40 लाख में से सिर्फ 12 ही बचे थे जिन्दा!

भगवान कृष्ण ने निकला था युद्ध के दिन का मुहूर्त दिवाली के दिन शुरू हुआ था महाभारत का महायुद्ध, कुरुक्षेत्र की धरती पर थे द्वेष छोटी सी बहस पे एक किसान ने अपने

today is good friday, festiwal of faith hope and truth  गुड फ्राइडे के दिन ईसा को चढ़ाया था सूली पर ईस्टर पर फिर जी उठे थे

आज गुडफ्राइडे है मान्यता है की इसी दिन ईसा को क्रॉस पर किलो से गॉड कर लटका दिया गया था। इसके तीन दिन बाद ईस्टर पर मसीह पुन: जी उठे थे।

With the view to the entire city to fulfill the vision of Lord Ganesha सारे शहर को देखने के साथ करे मनोकामना पूरी करने वाले गणेश जी के दर्शन

शहर कि एक इसी जगह जहा से आप देख सकते है पुरे शहर को जो की दिखेगा साथ ही पहाड़ के शिखर पर प्रसिद्ध पहाड़ी किला मंदिर के दर्शन भी .....

 Unique temple is Birajman God in human mouth अनोखा मंदिर इंसान के मुख में बिराजमान है भगवान् ! जाने इसके बारे में

दुनिया का मात्र एक ऐसा मंदिर जहा इंसान के मुख में भगवान् विराज मान है ऐसे ,मंदिर कोई दूसरा नही ये मात्र एक ऐसा मंदिर है जहा इंसान के मुख में गणेश जी .........

 Here Mashum children forcibly dung is laid यहाँ माशूम बच्चो को गोबर जबरन लिटाया जाता है ! बजह जानकर चौक जाओगे

अनोख़ी परम्परा यहाँ माशूम बच्चो को जबरन गोबर में लिटाया जाता है ये ऐसी परम्परा कई बार जानलेवा भी हो सकती है जाने इस अनोखी परम्परा के बारे में यहाँ ऐसा क्यों होता

why seven round of marriage taken around of fire? अग्नि के सात फेरे लेना ही क्यों है शादी की स्थिरता का मुख्य कारण

हिन्दू मान्यता के अनुसार बिना अग्नि के सामने सात फेरे लिए विवाह की रस्म पूरी नहीं होती है। अग्नि, पृथ्वी, जल, वायु, और आकाश इन पांच तत्वों से मनुष्य की उत्पति

vibhishana's wife gandharva kanya sarama n daughter trijata also helped rama विभीषण की पत्नी थी सरमा और बेटी का नाम था त्रिजटा!

रामायण के बहुत से ऐसे पात्र है जिनका महिमा मंडन या फिर यु कहें की जिक्र मुख्य कहानी में नही किया गया है पर उनके बिना राम जी की जीत असंभव थी.

the benefits of "janeu sanskar" जनेऊ संस्कार के क्या है मायने ?

ब्रह्मचर्य का प्रमुख चिन्ह है जनेऊ संस्कार. प्राचीन काल में गुरुकुल प्रथा थी, जन्हा जाने पर पहले बालको का जनेऊ संस्कार कराया जाता था.

kalyavan killed by krishna was from kaba and muslim king of demon क्या भगवान कृष्ण से दुश्मनी की वजह से मुघलो ने भारत पे किया था आक्रमण?

भगवान कृष्ण का एक नाम रणछोड़ भी है ये नाम उन्हें कालयवन नाम के एक मुस्लिम दुश्मन ने दिया था, वो वरदान पा अमर हो चूका था इस लिए कृष्ण ने उसे युक्ति से मारा.

Amazing Facts about water you wont believe! RO और UV का पानी पिने से हो जायेंगे बीमार, जाने पानी के विषय में चौंकाने वाले तथ्य!

आज कल टीवी पर पानी को पुरे करने के सस्ते उपकरणों के विज्ञापनों की भरमार है, लेकिनअगर आप किसी भी वैज्ञानिक या डॉक्टर से पूछेंगे तो वो कहेगा की पानी को शुद्ध करना

Why owl mother Lakshmi chose his vehicle माँ लक्ष्मी ने अपना वाहन उल्लू ही क्यों चुना?

माँ लक्ष्मी ने अपना वाहन उल्लू ही क्यों चुना इसके पीछे एक कहानी है जब माँ लक्ष्मी कार्तिक अमावस्या के दिन धरती पर आई तो अँधेरे में भी उल्लू अपनी तेज नजरो के

best benefits of touching legs of olders and tilakam तिलक लगाने और पैर छूके प्रणाम करने के है ये जबरदस्त फायदे!

भारत में बहुत पुरानी परंपरा है अपने से बड़ों का अभिवादन करने के लिए चरण छूने की, भारतीय लोगो में उर्म में अपने से बड़े के चरण स्पर्श करना अच्छा और शुभ समझते हे.