घर की फिल्म में ऐसा दृश्य डलवाकर ऋषि ने पद्मिनी से लिया था बदला....

"अपने समय की प्रसिद्द एक्ट्रेस पद्मिनी कोल्हापुरी अपनी दबंग दृश्यों को करने की छवि के लिए बदनाम थी लेकिन उनके साथ कभी कभी अत्याचार भी होते थे, जाने ऐसी ही घटना"

image sources : pinterest

1965 में एक मराठी परिवार में जन्मी पद्मिनी 1974 में ही एक बाल कलाकार के रूप में इंडस्ट्री में पदार्पण कर चुकी थी, लता मंगेशकर उनकी रिश्तेदार है. शक्ति कपूर की साली है यानी श्रद्धा कपूर की मौसी एक्टिंग को लेकर अनेको अवार्ड भी मिले और उनकी खूबसूरती और एक्टिंग पर कोई सवालिया निशान नहीं लगा सकता था!

पद्मिनी के पिता एक वीणा वादक थे और माँ एक एयरहोस्टेस, इसलिए उन्होंने अपने करियर की शुरुवात सिंगिंग से की और कई फिल्मो में चाइल्ड सिंगर के रूप में गया था. बप्पी लेहरी के साथ उन्होंने इंग्लैंड के अल्बर्ट हॉल में भी गाकर सबका दिल जित लिया था.

1974 से लेकर 1979 तक उन्होंने 6 फिल्मो में बाल कलाकार के रूप में काम किया था, लेकिन 15हवे साल में पहुँचते ही उन्हें 1980 में लगातार दो बोल्ड फिल्मे मिली. बोल्ड दृश्य फिल्माने के चलते उन्हें निजी सम्मान नहीं मिला इसकी पुष्टि उस घटना से होती है जिसका हम आज जिक्र कर रहे है.

जाने वो क्या था घटनाक्रम....


image sources : youtube

फिल्म प्रेम रोग की शूटिंग चल रही थी जिसमे विधवा हो चुकी और बलात्कार पीड़ित के रूप में अपने मायके लौट आई थी पद्मिनी. उस समय जब ऋषि उन्हें देखते है तो दया आ जाती है और वो पद्मिनी को शादी का प्रस्ताव दे देते है लेकिन इसके बदले में उन्हें एक चपत पड़ती है.

इस चपत को फिल्माने में काफी रीटेक हुए लेकिन बात नहीं बनी तो राज कपूर ने सच में ऋषि को जोर से थप्पड़ मारने को कहा और दर्जन भर रीटेक के बाद जब ऋषि का गाल लाल हो गया तब जाकर शॉट पूरा हुआ. लेकिन ऋषि वंहा चाचा के डर से कुछ बोल न सके लेकिन बाद में इस जुर्रत का पद्मिनी से बदला लिया.

1985 में रवि टंडन की फिल्म "राही बदल गए" में ऋषि ने थप्पड़ मारने का रोल डलवाया और पद्मिनी को इतने थप्पड़ रियल में मारे जब तक की उसकी आँखों से आंसू न बह आये. ऐसा ही है अगर इज्जत न हो तो स्टारडम धरा रह जाता है....

Share This Article:

facebook twitter google