वंशवाद की मार : दक्षिण में सफल होने पर ही बॉलीवुड में मिला इन अभिनेत्रियों को काम...

"बॉलीवुड में कभी हीरो की सिरफारिश पर या स्टार्स की सिरारीश पर ही काम मिलता था नहीं तो काबिलियत पर लेकिन अब वंशवाद से, इसके चलते कई अभिनेत्रियों को दक्षिण में...."

image sources : youtube

बॉलीवुड में वंशवाद नायको के लिए तो पहले से ही था लेकिन नायिकाओ के लिए नब्बे के दशक के बाद शुरू हुआ जिसके बाद नयी अभिनेत्रियों को आने के लिए या तो कोई ब्यूटी कांटेस्ट जितना जरुरी हो गया या टीवी पर पॉपुलर होना. इसी के चलते काम के दम पर आने के लिए साउथ सिनेमा में एंट्री जरुरी हो गई है अभिनेत्रियों के लिए.

"इस दर्दे दिल की सिफारिश" सांग से फेमस हुई रकुल प्रीत कौर को बॉलीवुड में हिट एंट्री के बाद भी काम नहीं मिला तो निराश होकर उन्होंने दक्षिण भारत की तरफ रुख किया. वंहा उन्होंने अच्छे पैसे भी कमाया और नाम और रुतबा भी इसी की बदौलत अब उन्हें बॉलीवुड में फिल्मे मिलने लगी है.

सिद्धार्त मल्होत्रा के साथ फ्लॉप फिल्म के बावजूद अब वो अजय देवगन के साथ मसाला फिल्म दे दे प्यार दे में तब्बू और अजय के साथ नजर आने वाली है. जाने ऐसी ही अभिनेत्रियों को उतर भारत में जन्मी पली बढ़ी लेकिन काम पाने के लिए उन्हें दक्षिण में धाक जमानी पड़ी.

तब जाकर बॉलीवुड में मिला रुतबा...


image sources : Fuffpostindia

चैनल वी का गॉर्जियस फेस अवार्ड जीता मिस इंडिया भी बनी लेकिन फिर भी बॉलीवुड से तापसी को कोई ऑफर नहीं आया. हालाँकि वो दिल्ली में जन्मी पली बढ़ी और सब कुछ सीखी है लेकिन फिर भी उन्हें शुरुवात दक्षिण भारत की फिल्मो से ही मिली थी बॉलीवुड में नहीं.

टॉलीवूड में सुपर हिट अभिनेत्री बनने के बाद उन्हें चश्मे बद्दूर मिली बॉलीवुड में लेकिन अक्षय की बेबी के बाद उन्हें जब अमिताभ के साथ पिंक मिली तो उनका रुतबा बना और अब वो बॉलीवुड में ऐ ग्रेड की अभिनेत्री है...


image sources : Bollywoodmantra

15 साल से जीनु (निक नेम) ने मॉडलिंग शुरू कर दी थी और बहुत ही जल्द उन्हें पार्कर पेन में अमिताभ के साथ ऐड शूट करने का मौका मिला लेकिन उन्होंने ये कह कर उसे ठुकरा दिया की शूट के अगले दिन ही उनके एग्जाम है. हालाँकि ऐड निर्माताओं ने मना लिया और अनंत उन्होंने ऐड शूट किया जिसके बाद उनकी काफी प्रसंसा हुई थी. 

फिर इसके बल पर उन्हें 2003 वर्ल्डकप के दौरान फेयर & लवली का ऐड भी मिला और तुरंत ही 2003 में डेब्यू करने के लिए तुझे मेरी कसम फिल्म मिल गई जो की रितेश और उनकी डेब्यू फिल्म थी. तुझे मेरी कसम फिल्म दक्षिण भारत की रीमेक थी लेकिन इसके बाद जेनेलिया ने ही इसी फिल्म की 2 और दक्षिण भारतीय भाषाओ में रीमेक की थी.

इन फिल्मो के चलते वो साउथ में छा गई और दर्जनों दक्षिण भारतीय फिल्मो में काम कर चुकी है जबकि हिंदी फिल्मे उन्होंने 10 से ज्यादा नहीं की है. आमिर की जाने तू या जाने ना से उन्होंने बॉलीवुड में सफल कमबैक किया और उसी फिल्म से उन्हें कई फिल्मफेर अवार्ड भी मिले.


image sources : Bollywooddadi

मुंबई में जन्मी पली बढ़ी काजल अग्रवाल ने इन्ही अपनी पढ़ाई पूरी की और इन्ही मॉडलिंग शुरू कर दी थी जिसके बाद उन्हें जल्द ही अमिताभ के साथ "क्यों हो गया ना" में एक छोटा रोल मिल गया था. लेकिन इसके बाद उन्हें बॉलीवुड में कोई काम नहीं मिला तो हार कर वो साउथ सिनेमा चली गई.

वंहा वो आज टॉप 5 एक्ट्रेसेस में से एक है और इसी के चलते उन्होंने बॉलीवुड में सिंघम जैसी फिल्म पाई और अब लगातार काम पा रही है. तो ये है बॉलीवुड की हक़ीक़त कई भोजपुरी एक्ट्रेस भी इसी के चतले फेमस हुई क्योंकि उन्होंने कोम्प्रोमाईज़ नहीं किया और संघर्ष को चुना....

Share This Article:

facebook twitter google