देवानंद ने धोखे से फिल्मा लिए थे वहीदा के इंटिमेट दृश्य, बाद में साडी भी उतरवाने की

"सुपर डुपर फिल्म गाइड आपने देखि हो न हो लेकिन ये एक पूर्ण मनोरंजन और इमोशन का भण्डार थी लेकिन इसके बाद कभी वहीदा ने देव साहेब के साथ काम क्यों नहीं किया? जाने???"

image sources : Bollywhat

1934-1949 के दौरान बंटवारे की हिंसा के चलते सभी बॉलीवुड एक्टर एक्ट्रेस ने असली नाम बदल कर हिन्दू नाम कर लिया था, सिर्फ वहीदा रेहमान ही एक मात्र ऐसी एक्ट्रेस थी जिन्होंने अपना नाम नहीं बदला था और वो अपने नाम पर ही कायम रही. तमिलनाडु में जन्मी वहीदा के पिता सरकारी अफसर थे.

उन्होंने बचपन से ही भरतनाट्यम सीखा था लेकिन टीनएज में ही पिता का साया सर से उठ गया वो डॉक्टर बनना चाहती थी लेकिन उन्हें मजबूरी में फिल्मो (साउथ) में आना पड़ा. बाद में सफल हुई तो हैदराबाद में गुरुदत्त ने उन्हें देखा और उन्हें CID से बॉलीवुड में लांच कर दिया.

ये फिल्म सुपर हिट रही और उसके बाद वो गुरुदत्त के साथ कुछ और सुपर हिट फिल्मो में नजर आई इसके आलावा उनकी जोड़ी देवानंद के साथ बन गई. लेकिन फिल्म गाइड में कुछ ऐसा हो गया दोनों के बिच के उन्होंने देवानंद के साथ कभी काम न करने का फैसला कर दिया था जो की कभी बदला नहीं.

जाने आखिर क्या हो गया था दोनों के बिच लफड़ा....


image sources : youtube

बम्पर हिट फिल्म गाइड सभी ने देखि थी लेकिन कम ही लोग जानते है की फिल्म एक साथ इंग्लिश में भी बनी थी, वहीदा रेहमान तब भड़काऊ रोल नहीं करती थी इसलिए इस फिल्म में देवानंद उन्हें नहीं चाहते थे लेकिन विजय आनंद (उनके भाई) के समझाने पर देवानंद राजी हो गए.

फिल्म के इंग्लिश वर्शन में रोजी को अपने बुजुर्ग पति के साथ इंटिमेट दृश्य फिल्माने थे जिसके लिए वहीदा राजी नहीं हुई तो देवानंद ने ये दृध्य डबल बॉडी से फिल्मा लिया. फिल्म का इंग्लिश वर्शन पहले रिलीज़ हो गया था जिसमे अपनी बॉडी डबल को देख वहीदा भड़क गई और आगे की शूटिंग करने से इंकार कर दिया.

लेकिन फिर फिल्म पूरी कैसे हुई जानना नहीं चाहेंगे....


image sources : Rediff

देवानंद रसूख वाले हीरो और फिल्म निर्माता थे, वो एसोसिएशन गए और उन्होंने वंहा से प्रतिबन्ध की धमकी दिलवाई तब जाकर वहीदा तैयार हुई फिल्म पूरी करने को. लेकिन पिक्चर अभी बाकी थी, फिल्म के एक दृश्य में वहीदा रेहमान को अपनी साडी खोलकर पहाड़ से गिरते हुए देवानंद को बचाना था.

तब वहीदा ने फिर इस दृश्य को फिल्माने से इंकार कर दिया तो देवानंद ने फिर धमकी दी तो उन्होंने ये दृश्य मज़बूरी में फिल्माया. इस फिल्म ने सफलता के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए लेकिन वहीदा ने इस फिल्म के बाद कभी देवानंद के साथ काम न करने का फैसला कर लिया था.

1970 में आई फिल्म ख़ामोशी में देवानंद ही कास्ट थे लेकिन वहीदा की जिद से देव साहेब को निकल कर राजेश खन्ना को ले लिया गया था. है ना गजब खबर 

Share This Article:

facebook twitter google