"ॐ नमो नारायण" मंत्र बोलते हुए हिरण्यकश्यपु से हुआ था गर्भादान, ऐसे जन्मे भक्त प्रहृलाद!

"एक दुष्ट राक्षस जो की भगवान् विष्णु से नफरत करता था उसके आचरण भी अच्छे नहीं थे उसके घर में एक भक्त कैसे पैदा हो गया? सम्भव तो है लेकिन इसके पीछे का संयोग जाने"

image souces : webdunia

भले ही कश्यप ऋषि का पौत्र था लेकिन फिर भी किसी भी राक्षसी प्रवर्ति के यंहा किसी नारायण भक्त का जन्म मुमकिन नहीं है. क्योंकि जैसे हमारे संस्कार होते है वैसे ही बच्चे हमारे घर में जन्म लेते है, आकाश में घूम रही आत्माये अपने ही संस्कार का गर्भ ढूंढता रहता है!

फिर प्रहृलाद कैसे जन्म गया हिरण्यकश्यपु के घर? हालाँकि इस पर बनी फिल्मो में ये दिखाया गया है की तपस्या करने गए राक्षस की गर्भवती पत्नी कयाधु को इंद्र हर के ले जा रहा था और तब नारद उसे छुड़ाकर अपने आश्रम ले गए वंही उसको गर्भ में भक्ति का माहौल मिला था.

लेकिन नरसिंघ पुराण में जो लिखा है वो इसके उलट है मतलब या तो फिल्म किसी और पुस्तक के आधार पर बनी है (गीता प्रेस हमारा आधार) या फिर उन्होंने कहानी में तोड़ मरोड़ किया है. रावण वैसे तो विश्रवा ऋषि का पुत्र था लेकिन वो और कुम्भकरण राक्षसी प्रवर्ति के हुए जबकि विभीषण साधू पुरुष हुआ.

जाने आखिर क्या है असली कारण प्रह्लाद के राक्षस कुल में जन्म लेकर भी भक्त होने का....???


image souces : youtube

नरसिंघ पुराण के अनुसार, हिरण्यकश्यपु ने 10000 साल तपस्या करने का व्रत लिया था लेकिन इसी दौरान नारद ऋषि और एक यक्ष ने उसमे व्यवधान डाल कर उसे क्रोधित कर दिया और वो लौट आया. जब आया तो उसकी पत्नी रजस्वला होकर स्नान कर चुकी थी.

दोनों एक दूसरे के साथ समागम में थे इसी के दौरान कयाधु ने व्रत भंग करने का कारण पूछा तो हिरण्यकश्यपु ने उसी दौरान कहा की कुछ देवता पक्षी बन "ॐ नमो नारायण" जप रहे थे जिससे मुझे क्रोध आ गया और मैंने धनुष उठा लिया. उसका ये मन्त्र कहना हुआ और उसी समय उसका तेज स्खलित हो गया और गर्भ में प्रहृलाद आ गया था.

गौर हो की मासिक धर्म के दौरान दोपहर में कैकसी ने विश्रवा ऋषि से गर्भधारण किया था जिसके चलते दो पुत्र राक्षस हुए जबकि शाश्त्र के अनुसार गर्भादान होने के चलते विभीषण सज्जन हुआ. गर्भाधान की विधि हम आपको पहले ही बता चुके है जिससे बच्चे का लिंग तक निर्धारित कर सकते है आप.

है ना चमत्कारिक जानकारी शाश्त्रो की...

Share This Article:

facebook twitter google