रावण के जन्म से भी पहले का 36 लाख साल पुराना कंकाल मिला इस देश में, जाने आश्चर्य

"रामायण 17 साख साल पहले की घटना है जबकि रावण का जब अंत हुआ था तब उसकी आयु लगभग 8 लाख साल थी. लेकिन हमारा इतिहास तो आनंद है ऐसे में अगर इथियोपिया में 36 लाख साल.."

image sources : youtube

सुनकर भले ही आप चौंक गए होंगे लेकिन सच इससे भी ज्यादा चौंकाने वाला है, क्योंकि ये देश भारत नहीं बल्कि इथियोपिया है! दुनिया के देश उसी बात को सच मानते है जिसे वैज्ञानिक प्रमाणित करदे और ये ही कारण है की दुनिया भारत को नहीं बल्कि इथियोपिया को दुनिया का सबसे पुराना देश मानती है.

हालाँकि ये ही दुनिया वाराणसी को दुनिया का सबसे पुराना शहर मानती है और 9200 साल पुरानी भारतीय सभ्यता को ही सबसे पुरानी संभ्यता मानती है. लेकिन इथियोपिया देश के बारे में कुछ ऐसी आश्चर्यजनक बातें है जो की आप जानकार अचंभित होंगे के दुनिया में ऐसा भी कोई देश हो सकता है क्या?

980BC में इस देश की स्थापना बताते है वैज्ञानिक, एकमात्र राष्ट्र ऐसा है जो किसी का उपनिवेश नहीं बना और इटली की सेना को भी दो बार हरा चूका है ये देश. यंहा मौजूद रिफ्ट घाटी अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है, इस देश का नाम बाइबिल और कुरान में 40 बार आया है मतलब कुछ न कुछ तो ऐतिहासिक था वंहा.


image sources : youtube

इस देश के नागरिको की आयु औसत दुनिया में सबसे कम 50 वर्ष है, इसके आलावा आपको ये जानकार आश्चर्य होगा की वंहा आज भी 2013 का ही कैलेंडर चल रहा है. वंहा 13 महीने का एक वर्ष होता है जिसमे से तेरहवे महीने में 6 दिन ही होते है आदि मानव जो यंत्र इस्तेमाल करते है वो सभी लगभग वंही मिले है.

11 सितम्बर को वंहा नया साल मनाया जाता है, निल नदी का उद्गम इसी देश से होता है. अब सबसे चौंकाए वाली बात के इसी देश में दुनिया का सबसे पुराना 36 लाख साल पुराना मनुष्य का कंकाल मिला है जो की सम्भवतः आदि मानवो का है लेकिन ये वर्ष भारत में रावण के जन्म से भी पहले का है.

रामायण 17 लाख साल पहले घटित हुई थी और रावण उसके 8 लाख साल पहले जन्म था उसके भी पहले इथियोपिया में आदि मानव थे जब भारत में सबकुछ विकसित था. है ना जोरदार संयोग.... 

Share This Article:

facebook twitter google