जेपी दत्ता को जब सलमान खान की गर्लफ्रेंड के साथ रंगे हाथो पकड़ा था बिंदिया ने तो....

"बॉलीवुड में लगभग सभी मर्द ठरकी ही है हर मर्द के 4 चक्कर तो बॉलीवुड में होते है वैसे मर्दानियो के भी औसत दो अफेयर तो होते ही है लेकिन कभी ये रोल पाने के लिए भी.."

image sources : pinterest

गुलामी बंटवारा जैसी पारिवारिक राजशाही फिल्मे हो या फिर बॉर्डर शरहद  LOC पलटन जैसी भारत पाकिस्तान रिश्तो पर फिल्मे सभी में डायरेक्टर जेपी दत्ता को महारत हासिल है. हालाँकि पलटन पूरी तरह फ्लॉप रही लेकिन उनका रसूख कम नहीं हुआ, हालाँकि उनके करियर में उनपे ठरकी होने के आरोप लगते रहे है.

1976 में उन्होंने सरहद नाम की एक फिल्म बनाई जो की रिलीज़ नहीं हो सकी लेकिन 1985 में आई ग़ुलामी से उन्होंने धमाकेदार आगाज किया था. तब उनकी उम्र छत्तीस साल थी इसी साल उन्होंने विनोद महरा की तलाकशुदा पत्नी बिंदिया गोस्वामी से भी शादी की थी.

उसके बाद उनका करियर चल निकला और बंटवारा यतीम क्षत्रिय जैसी तकदी फिल्मे बनाई लेकिन बॉर्डर ने उन्हें खूब सम्मान दिलाया था. लेकिन हर डायरेक्टर की तरह वो भी लंगोट के कुछ लचीले थे और एक्ट्रेस पर फिसलन आम बात थी, लेकिन उनकी पत्नी को इसकी कोई खबर नहीं रहती थी.

लेकिन एक एक्ट्रेस ने ही उन्हें सेट पर बुलाकर उन्हें कर दिया था शर्मिंदा, जाने क्यों और किसके साथ पकड़े गए थे?


image sources : youtube

आगे जानने से पहले जाने उनकी पत्नी बिंदिया का इतिहास भी, राजस्थान के भरतपुर में जन्मी इस एक्ट्रेस पर जब वो 14 साल की थी तो हेमा मालिनी की माँ की इनपे नजर पड़ी और उन्होंने इन्हे फिल्मो में आने को कहा वो आई भी. गोलमाल, खट्टा मीठा और शान जैसी फिल्मे करने के बाद वो फ्लॉप हो गई और उन्होंने विनोद महरा से शादी कर ली.

भरतपुर निवासी एक पुजारी जो की साउथ इंडिया से ताल्लुक रखते है की सात पत्नियों में से एक की बेटी थी बिंदिया गोस्वामी, हालाँकि चौंकाने वाली बात ये है की उनकी माँ ईसाई धर्म से थी और पिता हिन्दू. विनोद और बिंदिया के रिश्ते में अड़चन आई विनोद महरा को आया हार्ट अटैक.

इससे डर के बिंदिया ने पति से तलाक ले किया और जल्द ही पति का देहांत भी हो गया, तब उन्होंने जेपी दत्ता से शादी की और दो बेटियों को भी जन्म दिया. लेकिन इसी दौरान 1985 में हथियार फिल्म को डायरेक्ट कर रहे थे पति फिल्म में संगीता बिजलानी और अमृता सिंह थी.

इन्ही दोनों के आपसी द्वेष के चलते बिंदिया की जिंदगी बर्बाद होने को थी...


image sources : youtube

1989 में रिलीज़ हुई हथियार फिल्म निर्देशन भी जेपी दत्ता ने ही किया था फिल्म में धर्मेंद्र संजय दत्त और ऋषि कपूर के आलावा अमृता सिंह और संगीता बिजलानी भी थी. फिल्म की शूटिंग के दौरान संगीता जेपी दत्ता से प्रभावित थी और हुस्न जब बरभावित हो तो इश्क कैसे बच सकता है.

जेपी दत्ता और दोनों के बिच नजदीकियां चरम पर थी, फिल्म में अमृता संजय दत्त के अपोजिट थी और उन्हें ये डर लगने लगा की कंही उनका रोल बिजलानी न लेले इसलिए उन्होंने एक साजिश रची. फिल्म के सेट पर बिंदिया गोस्वामी जेपी की पत्नी का आना जाना लगा रहता था.

लेकिन एक दिन जब संगीता और जेपी उनके मेकअप रूम में थे तब अमृता ने बिंदिया को फ़ोन कर के बुला लिया और कान भी भर दिए. बस फिर क्या था दोनों रेंज हाथो एक कमरे में पकड़े गए थे और शक के चलते बिंदिया ने सेट पर ही तमाशा किया और संगीता को खरी खोटी सुनाई.

इसी के चलते दोनों में दूरिया हो गई और अमृता का सांप भी मर गया बिना लाठी टूटे, लेकिन संगीता को तब अजहर मिल गए.

Share This Article:

facebook twitter google