तो क्या भगवान् गणेश के चलते ही नहीं बन पा रहा है अयोध्या में राम मंदिर?

"भगवान् राम का अयोध्या में मंदिर (विशाल) अभी तक नहीं बन पा रहा है पुरे विवाद को तो हर भारतीय अब जानता ही है लेकिन क्या आप जानते है की इस मंदिर के बनने में जो..."

image sources : youtube

1986 में कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में विवादित भूमि के ऊपर राम लल्ला का मंदिर बन चूका है लेकिन अभी भी वंहा भव्य मंदिर नहीं बना है न ही वो श्रद्धालुओं के लिए हर रोज खुला ही रहता है. इसका कारण ये है की अभी मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है क्योंकि प्रयागराज उच्च न्यायालय ने 1 हिस्सा मुस्लिम पक्ष को सांत्वना के रूप में दे दिया.

इसी वर्ष इस मामले में फैसला आना था लेकिन मुस्लिम पक्ष की दलीलों (कपिल सिब्बल वकील) के चलते इसमें एक साल देरी हो गई, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के जाते समय वक्तव्य ये थे की अब रोज सुनवाई होगी क्योंकि हिन्दू मंदिर पर निर्णय जल्दी चाहते है लेकिन गोगोई जी आये और उन्होंने मामले को फिर लटका दिया.

अब जनुअरी में तय होगा की मामले की सुनवाई शुरू तुरंत होगी या फिर लोकसभा चुनावो के बाद ही इसपे सुनवाई शुरू होगी अगर मई के बाद सुनवाई हुई तो फिर देरी सम्भव है. ऐसे में एक बात विचारणीय है की क्यों हर बार किसी का इफ किसी का बट रह ही जाता है और भव्य मंदिर नहीं बन पाता है?


image sources : youtube

जंहा तक हमारी समझ है इसके पीछे भगवान् गणेश का हाथ है, क्योंकि उन्हें विघ्नेश कहा जाता है और किसी भी शुभ काम से पहले उन्हें न पूजे तो वो विघ्न उपस्तिथ करते है. भगवान् शंकर ने ही स्वयं उन्हें ये वरदान दिया था और उसी का पालन नियति कर रही है इसमें किसी को शंका न हो.

इसके आलावा स्कन्द पुराण में जो अयोध्या माहात्म्य लिखा है उसमे राम जन्म स्थान के सामने एक विघ्नेश मंदिर की भी बात कही है जिसे भी बाबर ने तुड़वा दिया था. हमारी समझ से पहले वंहा गणेश जी की स्थापना होनी चाहिए थी तब राम लल्ला विराजमान का मंदिर बनना (अभी जो है) चाहिए.

अब भी देर नहीं हुई है अभी राज्य सरकार वंहा ऐसा करवा दे तो मंदिर जल्द बन जायेगा! आपको क्या लगता है?

Share This Article:

facebook twitter google