Advertisement

फिल्मे जिनकी कहानी से नहीं बल्कि नाम से हुई बहुत बड़ी बहस, फिर लगा बेन भी...

"नाम में क्या रखा है? उत्तरप्रदेश में मुघलो के रखे नाम बदलने पर ये चर्चा हो रही है लेकिन सब तो नाम में ही रखा है कुछ बॉलीवुड फिल्मे तो सिर्फ नाम के चलतेही बेन हो"
Advertisement

image sources : pinterest

भारत में अभी कई शहरो के नाम बदले गए है या फिर बदले जाने प्रस्तावित है, ऐसे में विपक्षी पार्टिया भी मुद्दा बना रही है और कह रही है की नाम में क्या रखा है. लेकिन असल में नाम में ही सब कुछ नहीं तो काफी कुछ रखा है क्योंकि सरनेम के सहारे भारत में कई दुकाने चलती है.

आजादी के समय हिन्दू-मुस्लिम एकता ख़त्म थी तब नफरत से बचने के लिए सभी मुस्लिम सितारों ने अपने नाम बदल कर हिन्दू कर लिए थे. नेहरू जी के जमाई फ़िरोज़ ने अपना सरनेम Ghandy से बदल कर गाँधी (एमके गाँधी वाला) कर लिया था क्योंकि उन्हें उनसे प्रेरणा मिल रही थी.

इस तर्ज पर उन्होंने अपने बच्चो का नाम भी अपने धर्म से अलग रशीद और सईद नहीं बल्कि राजीव और संजय रखा था, इसलिए नाम में ही सबकुछ रखा है जी. ऐसे ही एक फिल्म पिछले साल आई थी (साउथ में) जो की गोवा फेस्टिवल में प्रदर्शित होनी थी लेकिन फिल्म का नाम विवादित था इसलिए फिल्म को प्रदर्शित ही नहीं होने दिया.

फिल्म का नाम हिन्दुओ की इष्ट देवी दुर्गा पर अश्लील शब्द के साथ रखा गया था निर्माताओं को बस पब्लिसिटी चाहिए थी फिल्म से नाम का कोई लेना देना ही नहीं था आखिर फिल्म फ्लॉप भी हुई और दिखाई भी नहीं गई...जाने ऐसी ही कॉन्ट्रोवर्सीज...


image sources : youtube

फिल्म को फ्री की पब्लिसिटी के लिए पहले भी विवादित नामो बनाया जाता है जिसे बाद में बदल दिया जाता है, ऐसी ही एक फिल्म आई थी गोलियों की रासलीला. संजय लीला भंसाली विवादों से फिल्म को चर्चा में लाने के लिए वैसे ही बदनाम है ऐसे में एक अश्लील और हिंसक फिल्म को उन्होंने रामायण का ही एक नाम दिया.

तब विवादों में घिर गई थी फिल्म और नाम बदल कर गोलियों की रासलीला करना पड़ा था, हालाँकि इस फिल्म का नाम कहानी से प्रभावित था लेकिन वो नाम धार्मिक भावनाओ को आहत करने वाले थे....


image sources : naidunia

इसी साल कुछ महीने पहले रिलीज़ और फ्लॉप हुई सलमान के बहनोई की फिल्म लव यात्री के साथ भी ऐसा ही हुआ था, फिल्म का नाम तब बदलना पड़ा था. गुजरात में धार्मिक उत्सव से जुड़ा नाम रखने के लिए इसका विरोध हो रहा था जो की फिल्म के लिए नुक्सान दायक था.

लेकिन नाम बदलने का भी इसको कोई फायदा न मिला और फिल्म डिजास्टर फ्लॉप साबित हुई...


image sources : deccanchronicle

राजपूत इतिहास पर बनी फिल्म जिसे संजय लीला भंसाली ने ही डायरेक्ट किया था मिले जुले बेन के बावजूद हिट रही थी लेकिन फिल्म का नाम बदला गया था. हालाँकि नाम बदलना ही काफी नहीं था लेकिन फिल्म को राष्ट्रिय पब्लिसिटी ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय पब्लिसिटी मिली जिससे फिल्म को फायदा हुआ.

हालाँकि फिल्म का नाम दिक्क्त नहीं था बल्कि दिक्क्त थी फिल्म की कहानी और भंसाली का ईगो....आशा है आगे भी ऐसे विवाद जारी रहेंगे क्योंकि अब समाज के ठेकेदार बढ़ गए है पहले सिर्फ एक ही तपके के थे... 
Advertisement

Share This Article:

facebook twitter google
Related Content
Prateik babbar shamed relation of husband wife राज बब्बर के बेटे ने पत्नी संग शेयर की इतनी गन्दी हनीमून पिक, लोग कर रहे है शेम शेम

लम्बी दुश्मनी के बाद पहले समाजवादी और अब कोंग्रेसी राजबब्बर का अपने बेटे से विवाद सुलझा था और अच्छे दिन आये थे लेकिन अब उनके बेटे ने एक ऐसा कांड कर दिया है की..

Sunny deol anil kapoor cold war incident ईगो हार्ट करने पर कुछ ऐसे गला पकड़ लिया था अनिल का सनी ने, जाने क्यों?

सनी देओल भले ही स्वाभाव से शर्मीले हो लेकिन जब बात रोमांस और ईगो की हो तो वो सलमान से भी ऊपर है, जाने एक ऐसी घटना जिसमे अनिल कपूर की जान जाती जाती बच गई थी.....

Atonement of rape as per hindu traditions जलती हुई लोहे की प्रतिमा अंगीकार कर होता है बलात्कार का प्रायश्चित, जाने ऐसे ही हिन्दू विधान

जब से बॉलीवुड फिल्मो में रेप को प्रचार के लिए परोसा जाने लगा तब से भारत में रेप बढ़ गए अब उसके लिए सजा कड़ी की जा रही है लेकिन क्या आप जानते है की इसका प्रायश्चित

Bollywood stars first kissing scene जाने सलमान समेत बॉलीवुड के टॉप एक्टर्स के फर्स्ट किसिंग सीन...

होठो पर चुम्बन एक निजी मुद्दा है ये रेखा के मामले में कोर्ट ने फैसला दिया था इसे दिखाना न दिखाना एक्ट्रेस पर निर्भर करता है लेकिन क्या आप जानते है स्टार्स के...

Aishwarya rai top deep cleavage picks ऐश्वर्या ने दूसरी पारी में जमकर दिखाया है अपना क्लीवेज, देखे कुछ पिक्स

ऐ दिल है मुश्किल से अपने करियर की दूसरी पारी की शुरुवात करने वाली ऐश्वर्या ने पहली पारी की अपेक्षा दूसरी पारी में काफी आक्रमण रुख अख्तियार किया है जमकर क्लीवेज

Know history of dd how influenced with politics राजनैतिक वंशवाद पर कटाक्ष था इसलिए टीवी की महाभारत के पहले एपिसोड के साथ हुई थी छेड़छाड़!

वंशवाद भारत में जड़े जमा चूका है और लगभग हर क्षेत्र में ही विधमान है लेकिन जंहा बात सेवा की हो वंहा तो ये नहीं होना चाहिए क्यूंकि राजनीती सेवा है. ऐसे में बचने..