मर्द ही नहीं ,नवविवाहित महिलाये भी तिरुपति में दान करती है अपने केश! धंधा हो तो क्या?

"हिन्दू धर्म संख्या के लिहाज से दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा धर्म है, लेकिन इसके बावजूद तिरुपति मंदिर ऐसा तीर्थ है जंहा सालाना मक्का मदीना और वेटिकन से भी ज्यादा...."

image sources : youtube

दुनिया में लोग धर्म को संख्या के आधार पर बड़ा छोटा मानते है हिन्दू धर्म संख्या के लिहाज से दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा धर्म है, लेकिन इसके बावजूद तिरुपति मंदिर ऐसा तीर्थ है जंहा सालाना मक्का मदीना (मुस्लिम तीर्थ) और वेटिकन सिटी (ईसाई तीर्थ) से भी ज्यादा तीर्थयात्री आते है. 

वो भी सिर्फ एक मंदिर में और अगर पुरे भारत के मंदिरो और तीर्थो को मिलाया जाए तो 3 साल की संख्या से बाकि धर्म के सदियों की संख्या में तुलना हो जाएगी. बात है आस्था की और हम तो पुरे विश्व को धर्म से नहीं बल्कि सिर्फ जीवित होने से ही परिवार मानते है.

अब लौटे तिरुपति में तो इस तीर्थ की महिमा और श्रद्धा इतनी है की यंहा नव विवाहित वधुए भी अपने सर के बाल दान में देती है जो की महिलाओ को विशेष प्रिय होते है. हालाँकि बालो का व्यापार होने के चलते करने वाले आलोचना भी करते है लेकिन दान करने के बाद बाल हमारे किस काम के, उसका कोई कुछ भी करे क्या फर्क पड़ता है.

अब जाने आखिर तिरुपति या तीर्थ में केश दान का क्या है महत्त्व?


image sources : youtube

पूर्व मिस इंडिया नम्रता शिरोडकर भी जो की अब साउथ सुपर स्टार महेश बाबू की पत्नी भी है ने भी अपने बाल तिरुपति में दान कर दिए थे. भले ही कोई जबरन ही बाल ले लेते हो (जैसी अफवाह है) लेकिन किसी भी तीर्थ में बाल देने का शाश्त्रो की दृष्टि में विशेष है महत्त्व.

तीर्थ ऐसे स्थान है जंहा लोग आस्था के साथ साथ अपने पाप भी धोने जाते है, केश जो है वो हमारे पापो का प्रतीक है! स्नान से पहले अपने शरीर के सम्पूर्ण बाल कटवा लेने से आपके पाप वंही रह जाते है अगर आप ऐसा नहीं करते है तो आपके तीर्थ स्नान से आपके पाप कम नहीं होंगे.

कुरुक्षेत्र, गया और जगन्नाथपुरी इन तीन स्थानों को छोड़कर हर तीर्थ में स्नान से पहले बाल उतरवाने ही चाहिए तभी आप के पाप धुलेंगे अन्यथा साथ ही रहेंगे कोई फायदा नहीं तीर्थ का. समझे OMG के निर्माताओं और शिव जी को सिर्फ गाय का ही दूध चढ़ाने से फायदा होता है, किसी गरीब को दूध नहीं रोटी या अन्न जल दान करे दूध के वो पात्र नहीं है.

अयोग्य को दान दोगे तो उल्टा पाप ही लगेगा.....

Share This Article:

facebook twitter google