Advertisement

एक ऐसा राजा जिसने किया गर्भधारण और जिसके बच्चे की माँ बने इंद्र देव..

"विज्ञानं के दौर में एक पुरुष द्वारा गर्भधारण करके अपनी संतान को जन्म देना संभव है लेकिन हजारो साल पहले एक राजा यवनाशक ने गर्भ धारण करके अपने पुत्र को जन्म"

Advertisement

आज विज्ञान के इस दौर में किसी पुरुष द्वारा गर्भधारण करके स्वयं की संतान को जन्म देना संभव हो गया है लेकिन क्या आप यह जानते है की आज से कई हज़ारों वर्षो पहले हमारे पूर्वजों का ज्ञान, आज के ज्ञान की तुलना में बहुत ही उच्च था। विज्ञान चमत्कारों को देख कर हम आज आश्चर्यचकित हो जाते है ऐसे चमत्कार तो हमारे पूर्वज हज़ारों साल पहले कर चुके थे, जैसे पुरुष के द्वारा गर्भधारण करके संतान को जन्म देना।यह कहानी है

image source: prabhunaam.com

राजा युवनाश्व की जिन्होंने स्वयं अपना गर्भधारण करके संतान को जन्म दिया था जो की बाद में “चक्रवती सम्राट राजा मांधाता” के नाम से प्रसिद्ध हुई।रामायण के बालकाण्ड के अनुसार ब्रह्माजी के पुत्र मरिचि के कश्यप का जन्म हुआ। कश्यप के पुत्र हुए विवस्वान। और   विवस्वान के पुत्र थे वैवस्त मनु, मनु के दस पुत्रों में से एक का नाम था इक्ष्वांकु। इसी वंश में राजा युवनाश्व का जन्म हुआ था लेकिन उनके कोई पुत्र नहीं था।

पुत्र प्राप्ति की कामना लिए उन्होंने अपना सारा राज-पाठ ही त्याग दिया और वन में जाकर तपस्या करने लगे। वन में उनकी मुलाकात महर्षि भृगु के वंशज च्यवन ऋषि से हुई।च्यवन ऋषि ने युवनाश्व के लिए इष्टि यज्ञ करना प्रारम्भ किया ताकि जिससे राजा को संतान की प्राप्ति हो! यज्ञ के पूर्ण होने के बाद च्यवन ऋषि ने एक मटके में अभिमंत्रित किया हुआ जल रखा उस जल का सेवन राजा की पत्नी को करना था ताकि उसे संतान की प्राप्ति हो सके।

image source: maiexists.blogspot.com

इस यज्ञ में कई ऋषि-मुनियों ने भाग लिया था और यज्ञ के बाद सभी ऋषि-मुनि थकान की वजह से  गहरी नींद में सो गए। जब राजा युवनाश्व की नींद खुली तो उन्हे बहुत भयंकर प्यास लगी।राजा स्वयं उठे और इधर उधर पानी की तलाश करने लगे।राजा युवनाश्व को वह मटका दिखाई दिया जिसमें ऋषि ने अभिमंत्रित जल रखा था। राजा ने बिना सोचे समझे प्यास की वजह से उस सारे जल को पी लिया।

इस बात का पता जब ऋषि च्यवन को लगा तो ऋषि ने कहा की अब उनकी संतान उन्हीं के गर्भ से जन्म लेगी।और फिर संतान के जन्म का समय आया तब दैवीय चिकित्सकों, ने राजा युवनाश्व की कोख को चीरकर बच्चे को बाहर निकाला। बच्चे के जन्म के बाद यह समस्या उत्पन्न हो गई कि बच्चे की भूख कैसे मिटेगी सभी देवतागण भी वहां पर उपस्थित थे, इंद्र देव ने उस बच्चे की माँ की कमी को पूरा किया।

image source: hi.drikpanchang.com

इन्द्र देव ने अपनी अंगुली उस शिशु के मुंह में डाली जिससे  दूध निकल रहा था और कहा की “मम धाता” इसका मतलब है की मैं इसकी माता हूं।इस वजह से उस शिशु का नाम ममधाता पड़ा।इंद्र देव ने जैसे ही शिशु को अपनी अंगुली से दूध पिलाना शुरू किया वह शिशु 13 बित्ता बढ़ गया था। यह कहते हैं की राजा मांधाता ने सूर्य उदय से लेकर सूर्यास्त तक के सभी राज्यों पर धर्म के अनुकूल शासन किया था।

और इतना ही नहीं राजा मांधाता ने सौ अश्वमेघ, सौ राजसूय यज्ञ करके दस योजन जितने लंबे और एक योजन ऊंचे रोहित नामक सोने के मत्स्य बनवाकर ब्राह्मणों को दान दिए थे।इतने लम्बे समय तक धर्म के अनुकूल रहकर शासन करने के बाद राजा मांधाता ने विष्णु के दर्शनों के लिए वन में जाकर तपस्या करने का निर्णय लिए और विष्णु के दर्शन होने के बाद उसी वन में अपने प्राण त्याग कर स्वर्ग की ओर प्रस्थान किया।

article source: ajabgajab.com


Advertisement
Related Content

eight immortals according to hindu mythology गायत्रीमंत्र है बेहद रहस्य्मयी, जिसने जाना हो गया चिरंजीवी!

गायत्री मन्त्र की महिमा ऐसी है की उसे बोल कर भी बहुत कम लोग है इसमें छुपे गूढ़ रहस्य को जान नही पाये है पर जो जान गए है वो अमर हो गए है, और मृतरयु से परे है.

 The law is the same for all the matter was jailed Hanuman कानून सब के लिए समान होता है इस मामले को लेकर हनुमानजी को जेल हो गई ! जाने मामला क्या था

आपने सुना होगा की कानून सब के लिए समान होता है चाहे बो इंसान हो या भगवान् सजा तो सभी को होती है लेकिन ये कौनसा कानून है लोगो के झगड़े में भगवान् को सजा दे रहा है

Fresh map of Lord rama exile come out! भगवान् राम के वनवास मार्ग का ताज़ा नक्शा, जाने हर पड़ाव पर अब क्या है हालात....

रामायण और महाभारत कितने वैज्ञानिक है ये लगभग हर भारतीय जानता है, लेकिन अगर आप उसे मैप के जरिये देखेंगे तो समझेंगे की ये बेहद अद्भुद है! जाने ऐसे ही कुछ सच.....

 Also the only time that the world is afraid of दुनिया में काल से भी बढ़कर है ये शक्ति इसका गुस्सा सांत करने के लिए इन के चरणों में भगवान् शिव को गिरना पड़ा ! जाने इसके बारे में

क्या आपने दुनिया की इस सकती के बारे में सुना है जिसका सामना करने से स्वयं भफ्वान शिव भी डॉ गई थे इस सकती के सपने आने से काल भी डरता है जाने इसके बारे में ......

Devraj Indra had to be a mistake because of the churning sea देवराज इंद्र की एक भूल के कारण करना पड़ा था समुद्र मंथन

विष्णु पुराण के अनुसार दुर्वासा ऋषि वैकुण्ठ लोक से आ रहे थे रस्ते में ऐरावत हाथी पर इंद्र को त्रिलोकपति समझकर फूलो की माला भेट की इंद्रा ने अहंकार में वह माला

What is the history of the red book and why it is considered high लाल किताब का इतिहास क्या है एवं इसको उच्च क्यों मानी गई है, जानिए

लाल किताब के बारे में सुना होगा लेकिन उसको कभी पढ़े नहीं होंगे! जबकि इस किताब में कई तरह के उपाय दिए हुए है जबकि इसका उपयोग...

The legend of saint bhringi of shiva अर्द्धनारीश्वर रूप के पीछे छुपे इस सत्य को जान आपकी रूह कांप उठेगी!

भगवान की महिमा अपने भक्तो से ही है, भगवान अपने से ज्यादा अपने भक्तो का गुणगान करने से अत्यधिक प्रसन्न होते है. ऐसे ही एक परम भक्त जिनकी महिमा हालाँकि उतनी नही

Tabbu still single due to.... जवानी में मुझसे बात करने वाले और मिलने वाले तक को पिट देते थे मेरे भाई के पड़ौसी अजय! तो क्या???

तब्बू 90 की एक्ट्रेस फराह की बहिन है, उन्होंने अपनी बहिन पे हुए अत्याचार का खुलासा किया था लेकिन फराह मुकर गई थी तब! लेकिन तब्बू क्यों अब तक सिंगल है????....

karan's death by the headen way of indra करण की मृत्यु लगभग असंभव थी, फिर भी मरा किस कारण से

महाभारत के युद्ध जारी था कौरवो की सेना में जब भीष्म ड्रोन सरीखे योद्धा मारे जा चुके थे तो, करण को सेना पति बनाया गया. करण बड़े पराक्रम से लड़ रहा था

Priyanka spotted at airport come back from usa अमेरिका से भारत लौटी प्रियंका ने एयरपोर्ट पर ही काटा बवाल...

हालही में अपनी आने वाली हॉलीवुड फिल्म के लिक सिन से चर्चा में आई प्रियंका हालही में भारत लौटी और एयरपोर्ट पर ही उन्होंने मैदान मार लिया, जी हाँ इस बार उनकी ड्रेस

mythological women charactors want to end her life on death of there husband पौराणिक इतिहास की 3 पत्निया जो गर्भवती होकर भी होना चाहती थी सती, कौन हुई कामियाब?

महिलाओं को जितना सम्मान भारतीय संस्कृति में मिला है उतना कंही और नहीं, महिलाओं ने भी अपने को मिले इस सम्मान को हर कदम पे सही ठहराया है. आज जाने इतिहास 3 औरते

Narkasur held to death by krishna, his kept 16100 women urges to do some for them कृष्ण की थी 16108 रानियाँ, इतनी शादिया क्यों?

हिरण्याक्ष को मारने के लिए भगवन विष्णु ने वराह अवतार लिया था, तब पृथ्वी से उन्होंने शादी की और उनसे जो पुत्र हुआ था वो था नरकासुर.

karava chouth vrat story by lord shiva स्वयं भगवान शिव ने सुनाई थी हिन्दू धर्म की ये महत्वपूर्ण कथा जाने क्यों...

उसने इंद्राणी के कहे अनुसार चौथ व्रत किया तो पुनः सौभाग्यवती हो गई। इसलिए प्रत्येक स्त्री को अपने पति की दीर्घायु के लिए यह व्रत करना चाहिए।

Know some amazing facts about husband fast Amazing : पति विदेश जाने पर सालो साल नहाती तक नहीं थी पति व्रत ली हुई औरते....

भारतीय आध्यात्मिक (स्पिरिचुअल हिस्ट्री) में अनेकोनेक उदहारण है जिसमे पति को पत्नी ने तार दिया हो, किसी ने पति को प्राण बचाये तो किसी ने नरक से. पतिव्रत से ही वो

Amazing story of bollywood veteran villain! फिल्म में एक्ट्रेस का बलात्कार करने पर घरवालों ने निकाल दिया था घर से बाहर, नहीं हो रही थी शादी: रणजीत

आज अगर कोई बलात्कारी जेल में जाता है तो घरवाले उसे छुड़ाने की कोशिश करते है लेकिन बॉलीवुड में फिल्म में एक्ट्रेस का रेप करने पर ही राजनीत की फैमिली ने उन्हें....

maharashi valmaki was a dacoit क्या रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि एक डाकू थे

महर्षि वाल्मीकि को आदिकवि कहा जाता है उन्होंने रामायण की रचना की थी लेकिन वह पहले एक डाकू हुआ करते थे जो आगे चलकर महर्षि के रूप में प्रचलित हुए

Goddess rati, lady of love cared her husband ki childhood than married to him इस हिन्दू देवी ने अपने ही पति को माँ की तरह पाला, जवान होने पर की शादी!

हिन्दुधर्म की रति देवी ने अपने ही पति को पुत्र रूप में पालन किया और जब वो जवान हो गया तो फिर उससे शादी भी की, लेकिन इसके पीछे एक दर्दनाक त्याग की कहानी है आप इस

Know facts about aghouries! अघोरियों को मिलता है मोक्ष, इसलिए ताउम्र घूमते है रूद्र वेश में...

अघोरी हमेशा ही आम लोगों के लिए एक रहस्यमयी व्यक्तित्व होते है, वैसे तो उनकी उत्पति की कोई व्याख्या हमारे पास नही है, लेकिन भगवन शिव का एक रूप अघोरी भी है तब से

World's really not a temple where Shiva, is their toe worship क्या सच में विश्व का एक ऐसा मंदिर जहां शिव की नहीं, इनके पैर के अंगूठे की होती है पूजा

अपने कई मंदिर देखे होंगे पर एक मंदिर ऐसा भी है जहाँ पर किसी मूर्त की नहीं बल्कि भगवान के किसी...

amazing mythological story of ancient india, male had given berth to boy राम के पूर्वज मान्धाता ने पिता की कोख से लिया था जन्म, देवो ने किया था Operation

इंद्र देव ने शिशु को अपनी अंगुली से दूध पिलाना शुरू किया वह शिशु 6.5 का हो गया। कहते हैं राजा मांधाता से सूर्य उदय से लेकर सूर्यास्त तक के राज्यों पर शासन था.

Amazing chapter of Karna killing! कर्ण वध: मौत को सामने देख कर्ण कोसने लगा था धर्म को, तब कृष्ण ने बताया उसे उसका असली धर्म!

जब मौत सामने होती है तो हर कोई उसे टालने कल लिए बहाने बनाने लगता है, महाभारत में कर्ण ने भी बनाये लेकिन बेहद निंदनीय! जाने कृष्ण ने कर्ण को दिए क्या जवाब....

Was valimiki wrote ramayan before it happened? घटित होने से पहले ही लिख दी थी वाल्मीकि जी ने रामायण, इसलिए हो रहे है विरोधाभास...

भारत में अब तक 300 अलग अलग रामायण लिखी जा चुकी है जिसमे से तुलसी की रामायण काफी लोकप्रिय है पर बाकियो ने वाल्मीकि रामायण को आधार माना इसलिए है इतने विरोधाभास...

when king ramdev married naital princesses, divine happen जन्मजात शारीरिक विकृत राजकुमारी नैतल से रामदेव पीर ने किया विवाह

राजकुमारी नैतल जो जन्म से ही शारीरिक रूप से विकृत थी ना तो वो बोल पति थी और ना ही चल पति थी. इसी कारन दल जी परेशान रहते थे.

parvati born to the monster शिव ने किया था अपने ही पुत्र का वध

शिव और पार्वती के पुत्र के रूप में कार्तिक और गणेश को ही लोग जानते है लकिन उसके अलावा उनका एक और पुत्र था जिसके बारेमे कोई नहीं जनता जिसका नाम था अंधक