Advertisement

विश्वास नहीं होगा लेकिन भारत में भी है ऐसा फोल्डिंग रेलवे ब्रिज, देखने वाले रह जाते है दंग!

"विदेशो में आपने ऐसे ऐसे ब्रिज देखे होंगे तो अपने भी सोचा होगा की काश हमारे देश में भी ऐसा होता, लेकिन आप ये जानकर चौंक जायेंगे के उनसे भी बेहतर एक ब्रिज भारत मे"
Advertisement

image sources :theworldgeography

दुनिया भर में आपने इंजिनियर्स द्वारा निर्मित फोल्डिंग ब्रिज देखें होंगे जो की पानी के जहाजों को रास्ता देते दिखाई देते है और देखे में काफी आकर्षक लगते है. उन्हें देख कर आप सोचते होंगे की काश भारत में भी ऐसा ही कोई ब्रिज होता! लेकिन शायद आप को पता नहीं होगा की भारत में भी ऐसा ब्रिज उपलब्ध है. 

दुनिया भर के सभी फोल्डिंग ब्रिज पानी के जहाजों को रास्ता देते है लेकिन भारत के बने इस पूल की तो बात ही न्यारी है क्योंकि ये एक रेलवे ब्रिज है और शायद ये ऐसा दुनिया का एकमात्र ब्रिज है. जी हाँ बात हो रही है भारत के पम्बन ब्रिज की जो की रामेश्वरम और मुख्य धरती को जोड़ता है.

143 खम्बो वाला ये ब्रिज मुंबई सीलिंक के बनने तक भारत का सबसे लम्बा सीलिंक था इसकी लम्बाई 2 किलोमीटर है! लेकिन सबसे अद्भुद बात ये है की ये 100 साल से भी ज्यादा पुराना है, 1914 में इसकी नीव रखी गई गई थी और ये आज भी उतना ही मतत्वपूर्ण है.

जाने इस अद्भुद अभियांत्रिकी भारतीय निर्माण के बारे में कुछ रोचक जानकारिया....


image sources : youtube

इसको बनाने की पहल हालाँकि 1870 में ही कर दी गई थी लेकिन इसकी शुरुवात 1911 में हुई और तीन साल में ही ये बनकर तैयार हो गया था. इसका मुख्य आकर्षण है इसपर बना फोल्डिंग पार्ट जो की स्थानीय जहाजों के लिए खुलता और बंद होता है, इसका निर्माण एक जर्मन अभियांत्रिक ने किया था. 

रामेश्वरम और मुख्य भूमि से ये यात्रा का एकमात्र साधन था 1988 तक क्योंकि उसके बाद वंहा एक और सड़कमार्ग भी उसके ही बदल में बन गया. 


image sources : booktherooms

पहले ये यूनीगेज था लेकिन राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की सलाह पर रेलवे ने इसे ब्रॉडगेज कर दिया और इसकी क्षमता और भी बढ़ गई. 

लेकिन 1964 में आये एक तूफ़ान ने इस पल को हिला दिया हालाँकि ये पल फिर भी कुछ ख़ास नहीं बिगड़ा लेकिन ट्रैन पलटने से 150 लोग मारे गए थे. धनुष्कोडी में तब भरी तबाही मची थी और आज भी लोग वंहा रहने की हिम्मत नहीं जुटा पाए है क्योंकि उस समय 25 फुट ऊँची सुनामी की लेहरो से सब बर्बादकर दिया था.


image sources : indiatiems

1964 के तूफ़ान में ये ब्रिज क्षतिग्रस्त हुआ था लेकिन तब मेट्रोमैन ई श्रीधरन ने इसे चमत्कारिक 46 दिनों के भीतर मरम्मत कर दिया था. आईटीआई मद्रास के विधार्थियो ने इस पल की सबलता का अनुमान लगाने का फैसला किया है जो की सबके लिए चौंकानी वाली है.

वंही रेलवे इसे यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट में नाम दिलाने में प्रयास कर रहा है, ये पल अब पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गया है और शायद अब आप भी इसको देखने को उत्सुक हो रहे होंगे.

Advertisement

Share This Article:

facebook twitter google
Related Content
Hindu main pilgrimage in pakistan सिक्खो के ही नहीं, पाकिस्तान में रह गए हिन्दू महत्त्व के कई बड़े तीर्थ स्थल....जाने

बंटवारे की त्रासदी और काले अतीत को कोई भी याद नहीं रखना चाहेगा लेकिन भारत में वोट बैंक के चलते आज भी उस समय की नफरत को ज़िंदा रखा गया है, अगर ऐसा न होता तो तीर्थ

Jayaprada amazing facts of life आखिर क्यों था श्रीदेवी और जयाप्रदा में झगड़ा, बिना शादी के एक विवाहित मर्द से माँ बनी तो....

फिल्म मकसद में जितेंद्र और राजेश खन्ना हीरो थे जिसके साथ श्रीदेवी और जयाप्रदा नायिकाएं थी इसी की शूटिंग के दौरान दोनों एक कमरे में बंद हो गए थे लेकिन कोने में..

Amir khan shri devi amazing news आमिर खान की गलत हरकतों की वजह से श्रीदेवी ने कर दिया था उनका बहिष्कार....

अब तो इस दुनिया में नहीं लेकिन हवा हवाई अपने आप में मर्दानी थी शादी उनकी विवादित थी लेकिन उसके बावजूद भी बच्चियों को इज्जत से पाला लेकिन आमिर खान के साथ कभी काम

Know international connection of ramayan क्या आप जानते है उक्रेन था भरत जी का ननिहाल, जाने रामायण के इंटरनेशनल कनेक्शन...

गत दिवाली कोरिया की फर्स्ट लेडी अयोध्या में मुख्य अतिथि थी जिसके पीछे का कारण अब आप जान ही चुके होंगे, वंहा की आबादी के 60 लाख लोगो का ननिहाल अयोध्या है ऐसा वो

Reema sen unknown facts बेहद अश्लील फोटोशूट करवाने के एवज में गैर जमानती वारंट इशू हो गया था इस एक्ट्रेस के खिलाफ

कभी दौर था जब बॉलीवुड में बिकिनी और किसिंग प्रतिबंधित थे लेकिन मेरा नाम जोकर से राजकपूर ने इनकी शुरुवात कर दी लेकिन अब अगर किसी फोटोशूट के चलते किसी एक्ट्रेस का

pradyumna kumar mahanandia love story. भारतीय दलित प्रेमी, जो साइकल से पहुँच गया अपनी प्रेमिका के पास 7 समुन्द्र पार...

क्या आप विश्वास करेंगे की एक भारतीय दलित अपने प्यार के लिए सबकुछ बेच कर साइकिल पर चल कर 6000 मिल की दुरी तय कर अपने प्यार को पाने के लिए गया और आज वो है समर्थ..