Advertisement

असल में रावण के सगे दादा द्वारा भेजा गया सन्देश ही कहा था विभीषण ने, बदले में पड़ी लाते ..

"जब सागर तट पर राम जी की सेना आ गई तो गुप्तचरों ने जाकर रावण को सुचना दी ऐसे में विभीषण अपने भाई के पास गए और उन्हें ज्ञानपूर्वक बातें कही जिससर रावण भड़क गया...."
Advertisement

image sources: quara

हनुमान जी ने वापस लौट कर सीता जी की सुधि दी और तुरंत ही सेना ने लंका की तरफ कुछ कर लिया, रामेश्वरम में सागर तट पहुँच कर सेना ने अपना शिविर लगाया तो वंहा मौजूद रावण के गुप्तचरों ने दरबार में सुचना दी. 
"निज निज गृह सब करीबी विचार आवहि सम्पद सिंधु ही पारा, जासु दूत बल बरनी न जाए तेहि आये पुर कवन भलाही!"

अर्थात लंकावासी अपने अपने घर में विचार करने लगे की राम जी की सेना समुद्र तट पर आ पहुंची है, जिनके दूत हनुमान के बल का भी अभी अनुमान नहीं है उनकी पूरी सेना आएगी तो लंका वासियो के कुल की रक्षा कैसे संभव होगी.

ऐसे ही मंदोदरी ने भी रावण को समझाया लेकिन विनाश काळा विपरीत बुद्धि के चलते वो नहीं समझा तब विभीषण दरबार में आया और उसने भी रावण को समझाने का प्रयास किया. माल्यवंत नाम के मंत्री ने भी ऐसा ही किया लेकिन उसे तो रावण ने दांत कर भगा दिया दरबार से.

लेकिन विशिक्षण तब भी चुप नहीं हुआ और उसने वो बात कही जो रावण के दादा ने कहलवा भेजी थी...


image sources: haribhakti

"तात राम नहीं नर भूपाला, भुवनेश्वर काल्हु कर काला! देहु नाथ प्रभु कहु वैदेही, भजहु राम बिन हेतु सनेही!!
जासु नाम त्रय ताप नशावन, सोइ प्रभु प्रकटे समझ जिय रावण! बार बार पद लागहु विनय करहु देशशीश...!!"

विभीषण ने कहा की है भाई, राम को साधारण राजकुमार नहीं बल्कि त्रिलोक पति भगवान् विष्णु स्वयं ही प्रकट हुए है. सीता को देकर राम जिकी शरण लीजिए. जिनके नाम के स्मरण मात्र से ही मोक्ष मिल जाता है उनसे बैर मत कीजिये, बार बार आपके पकड़ कर आपसे विनती करता हूँ कृपया राम की शरण में चलिए.

तब भी रावण नहीं माना और गुस्से में आकर उसने अपने छोटे भाई को ही लातो से मारना आरम्भ कर दिया था, जबकि ये सारे वचन विभीषण के नहीं बल्कि रावण के दादा के थे. 

"मुनि पुलस्ति निज शिष्य सन, कही पैठि ये बात तुरत सो में प्रभु सन कही पाई सुवसरु तात" अर्थात रावण के दादा पुलस्त्य जी ने अपने शिष्य को भेज कर वो सन्देश भिजवाया था जिसे विभीषण ने दरबार में पड़ा था तब पर भी अहंकारी रावण ने वो सुझाव नहीं माना और अनंत राम जी के हाथो से मारा गया था.
Advertisement

Share This Article:

facebook twitter google
Related Content
Know how dattatrey god killed demons जाने क्या हुआ जब असुर उठाकर ले गए भगवान् दत्तात्रेय की पत्नी लक्ष्मी को?

आज देश में चर्चा का मुख्य विषय राजनीती ही है, घर सफर हो या मोहल्ले में राजनीती पर ही चर्चा होती है ऐसे में जब गाँधी परिवार ने अपना गौत्र दत्तात्रेय बताया तो....

Shahrukh khan debuted from hema movie शाहरुख़ खान को जिसने बनाया हीरो, स्टार बनते ही उन्ही की करने लगे थे बेइज्जती....

हालाँकि पिछली 5 वर्ष की अवधि में किंग खान सिर्फ शाहरुख़ बन गए है और सलमान ने उनकी जगह ले ली है लेकिन उन्होंने फर्श से अर्श का सफर तय किया और करते ही वो घमंड का..

Bollywood actress who smoke but not in public इन अभिनेत्रियों का कभी ऐसा अंदाज नहीं देखा होगा आपने, देखे....

हिंदी फिल्मो के स्टार्स के खाने के दांत कुछ और दिखाने के कुछ और होते है ये तो सभी जानते है लेकिन कुछ टॉप एक्ट्रेस के ये दांत मीडिया के जरिए सार्वजनिक हो गए.....

Know difference between varna & cast system वर्णव्यवस्था (त्रेता द्वापर युग) और जाती व्यवस्था (कलियुग) में है बड़ा अंतर, जाने...

धर्म को जानने वाले बिना मांगे ज्ञान देते नहीं है और जो नहीं जानते है उनसे जवाब मांगते है वो लोग जो कभी दबे कुचले गए थे, वर्ण और जाती व्यवस्था को एक ही मानते है

Bollywood stars fake breakup reasons स्टार्स जिन्होंने निजी स्वार्थो के लिए किये ब्रेकअप, खुद को सही साबित करने के लिए बनाये गंदे बहाने

प्यार की कहानियो के नाम पर बॉलीवुड का धंधा चलता है लेकिन असल में इस इंडस्ट्री में प्यार कंही नहीं दीखता है, निजी स्वार्थ के लिए प्रेम सम्बन्ध तोड़े जाते है और...

Why salman khan slapped subhash ghai जाने क्या हुआ जब प्रेमी सलमान के जरिये घई ने ऐश को बुलाया था बंगले पर?

सुभाष घई और ऐश्वर्या के बिच ताल फिल्म में कास्टिंग के लिए क्या हुआ था इसके बारे में शक्ति कपूर ने कुछ खुलासा किया था लेकिन क्या आप जानते है उन्होंने सलमान के...