Advertisement

शिव भक्त नहीं था रावण, सिर्फ वरदान के लिए करता था उपासना! जैसे ऐसे ही कुछ फैक्ट्स....

"रावण के बारे में कई अफवाहे फैलाई गई है जिसमे से ये भी एक है, कुछ लोग राक्षस होते हुए भी उसे ब्राह्मण कहते है ये भी आश्चर्य की बात है! जाने ऐसे ही कुछ फैक्ट्स जो"

Advertisement
सीता हरण के आलावा हजारो अप्सराओ, गन्धर्व कन्याओ और राक्षसियो तक के बलात्कार करने वाले रावण को आज भी कई लोग सम्मान की नजरो से देखते है. कोई कोई उसे ब्राह्मण कह के दशहरे के दिन उसके दहन का भी हलकी आवाज में विरोध करते है.

ठीक है लोकतंत्र है, इसमें सभी को अपनी बात कहने का हक़ है लेकिन क्या ऐसा करने हम/आप भारत की आत्मा श्रीराम पर ही तो सवालिया निशान नहीं उठा रहे है. ज्ञान होना अलग चीज है लेकिन लोक कल्याण में उसका उपयोग मायने रखा है, परकाण्ड पंडित कह कर उसके द्वारा किये गए कुकृत्यों पर पर्दा तो नहीं डाला जा सकता है.

शिव तांडव स्त्रोत्र समेत कई संस्कृत रचनाये रावण ने रची थी लेकिन इसका ये मतलब नहीं है की रावण शिव का भक्त था! जब रावण को अपनी शक्ति का घमंड हुआ तो उसने क्रोध में हिमालय को ही उठा लिया था वो भी उस समय जब शिव और पार्वती वंहा विराजमान थे. 

तब शिव ने रावण को अपने पेअर के अंगूठे से दबा दिया था, मरता क्या न करता तब रावण ने बुद्धि का प्रयोग कर रचा था "शिव तांडव स्त्रोत्र"...


image sources: news75

तब भी शिव ने उसे माफ़ नहीं किया था, लगातार 3000 वर्षो तक जब रावण ने इस मन्त्र से शिव स्तुति की तब जाकर शिव उसपे प्रसन्न हुए और वरदान भी दिए. अब बताइये इसमें कहा उसकी शिव भक्ति दिखती है बल्कि ये तो बुद्धि से समस्या से बचने की कला है वो भी अपने घमंड से पैदा हुई समस्या थी.

रावण युद्ध में अजेय होने के लिए लंका में कात्यायनी देवी की श्राद्धीय पूजा करता था (नवरात्र) जो उसे शक्ति प्रदान करता था लेकिन राम जी ने अमावस्या से ही शक्ति पूजा शुरू कर वरदान ले लिया था रावण वध का.


image sources: punjabkesari

ऐसे ही रावण ने ज्योतिष का ज्ञाता होने के चलते नवग्रहों को अपने वश में कर लिया था लेकिन शनि नहीं माना था, तब रावण ने उसे लंका में कैद में उलटा टांग दिया था जिन्हे हनुमान ने मुक्त करवाया था. 

सीधा सीधा मतलब ये है की त्रिलोकी को जितने और अपने वश में करने के लिए वो शिव हो या दुर्गा हो या नवग्रह हो या ब्रह्मा सभी की उपासना किया करता था. भक्ति तो व्यक्ति को दया सिखाती है, क्या आपने किसी भी भक्त को हिंसा करते हुए सुना है है कोई उदहारण?

रावण भक्ति नहीं बल्कि एक चतुर राक्षस था, ब्रम्हा के अण यानि की ब्राह्मण तो सभी है लेकिन कर्मो से ब्राह्मण हो वो ही ब्राह्मण है जन्म से धर्म या वर्ण का कोई लेना देना नहीं है. स्वाभाव ही व्यक्ति को मनुष्य या राक्षस बनाते है राक्षस भी तो मनुष्य ही थे बस गुणों का अंतर था.

Advertisement
Related Content

Amazing reality about eating on daughter's house! आखिर शास्त्रों में क्यों है बेटी के घर का अन्नजल खाने की मनाही?

सनातन परम्परा रही है की बेटी के घर का अन्न जल ग्रहण नहीं किया जाता है, हालाँकि आज ये मान्यता बहुत कम लोग ही मानते है लेकिन इसके पीछे का मक्सब बेहद दिव्या है....

Alia bhatt's top oops in auto expo 2016 Oops सबके सामने खिसक गई थी आलिया भट्ट की ड्रेस हंसने लगे कोहली...

कम उम्र में दुनिया की प्रभवशाली 100 स्त्रियों में अपना नाम दर्ज करवाने वाली आलिया बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस में शुमार है, तो भी उनसे हो जाती है ऐसी गलतिया जिनसे..

the saga of greatest poet of india poet kalidasa महाज्ञानी घमंडी राजकुमारी से बदला लेने के लिए करा दी महामूर्ख से शादी!

दुनिया के सर्वोत्तम कवियों में से एक थे महाकवि कालिदास जिन्होंने लगभग पहली सदी में ही दुनिया की सब भाषाओ की जनक रही संस्कृत भाषा में ऐसे साहित्य लिख दिए जो आज

shankrachary given many critical statements हिन्दुओ को स्कूलों में मिले धर्म की शिक्षा, ताजमहल है शिवलिंग साईं थे मुस्लमान: शंकराचार्य

शिरडी में बनी उनकी मजार पर हिंदुओं को जाने से बचने की सलाह दी। स्कूलों में हिन्दू धर्म ग्रंथो की पढ़ाई कराई जाए। ताजमहल के नीचे शिवलिंग बना है।

 Unique temple in the temple ends in a moment of anguish of eyes! अनोखा मंदिर इस मंदिर में आँखों की पीड़ा पल भर में दूर हो जाती है ! जाने इस अनोखे मंदिर के बारे में

आपने कई चमत्कारिक मन्दिरो के बारे में सुना होगा लेकिन आज में आपको एक ऐसे चमत्कारिक मंदिर के बारे में बता रहा हु जिसके बारे में आपने पहले कभी नही सुना होगा .....

miracle happening again and again in assam kamkhya mandir असम के कामख्या मंदिर में लगने वाले मेले में होता है हर साल चमत्कार

मंदिर जाने और पूजन करने का विशेष महत्व माना गया है। लेकिन कुछ मंदिर ऐसे भी हैं, जो सिर्फ मनोकामना पूरी करने के लिए ही नहीं, बल्कि अपनी किसी अनोखी या चमत्कारिक व

Karan grover life with 3 girls सच्चे Secular है करन ग्रोवर, अब तक तीन अलग अलग धर्मो मे कर चुके है शादिया...

टीवी से शुरू हुआ सफर अब बॉलीवुड तक पहुँच चुका है और करन ग्रोवर अब एक जाने माने सेलिब्रिटी है, अपने लुक्स और बॉडीबिल्डिंग के चलते लड़किया उनकी दीवानी है और निजी

Amazing revenge of bhima in mahabharat दुशासन के बेटे और 100 में से 97 कौरवो को अकेले मारा था भीम ने, जाने कौन बना किसका निशाना...

युद्ध शुरू होते ही भीम की आँखों में द्रौपदी का चिर हरण आ गया उसके बाद तो जब जब कोई कौरव उसकी आँखों के सामने आता वो जिन्दा नहीं बचता था, हालाँकि दुशासन एक बार...

get life after death called reberth मरने के बाद वापिस जिन्दा होने वालो की सच्ची कहानी

ऐसी घटनाये जन्हा हिन्दू धर्म की मान्यताओ और सच्चाई को उजागर कराती है वंही पश्चिम की अनैतिकता पर भी कुठाराघात है.

amazing facts of hindu callander you never know? हिन्दू वर्ष में होते है सिर्फ 354 दिन, फिर कैसे लगा लेते है सूर्यचन्द्र ग्रहण के सटीक समय का अनुमान?

हिन्दू कैलंडर के प्रत्येक महीने में साढ़े उन्नतीस दिन ही होते है फिर भी वो गृह दशाओ चन्द्र-सूर्य ग्रहण का बिलकुल सही समय का अनुमान लगा लेता है. आप सोच रहे होंगे

Zeenat aman's mysterious character on reel! रिश्ते में भाई था इसलिए विलन नहीं करना चाहता था परदे पर बहिन के साथ रेप, लेकिन...

देवानंद करना चाहते इस एक्ट्रेस को परपोज लेकिन होटल में राज कपूर की बांहों में उसे देख टूट गया था इस सुपरस्टार का दिल, जाने इस एक्ट्रेस के बारे में, कौन है ये?

slaughter at the age of six क्या वास्तव में किया था वध सिर्फ छ साल की उम्र में एक बालक ने

हिन्दू धर्म ग्रंथो के अनुसार भगवान शिव और पावती के पुत्र कार्तिकेय ने सिर्फ छ साल की उम्र में ही वध किया था वो भी एक भयानक रक्षक ताड़कासुर का

Film based on sanya baru's book set to release in 2018 विदेश में ख़ुफ़िया तौर पर बन रही है मनमोहन सिंह पर फिल्म, इटालियन एक्ट्रेस बनेगी सोनिआ

2014 आम चुनावो से पहले प्रधानमंत्री कार्यकाल में मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब ने तहलका मचा दिया था अब उनकी किताब पर बन रही फिल्म अगले साल में हो रिलीज

the tales of best donationist of all time daanveer karna अर्जुन ने ब्रह्मास्त्र से काटा था कर्ण का सर, कटे सर ने भी दिया ब्राह्मण को ये दान!

हालाँकि कर्ण में खलनायक के कई से गुण थे जो उसे नायक कहे जाने पर सवाल उठाते है लेकिन इन सब के बावजूद भी कर्ण बिना किसी विवाद के महादानवीर था. मरते वक्त भी दे गया

18 days was a war between Bhima, Jarasandha, the land of pilgrimage 18 दिनों तक भीम-जरासंध के बीच हुआ था युद्ध, तीर्थो की है भूमि

आपने पांडवो के भाई भीम के बारे में तो जानते ही होंगे लेकिन ये नहीं जानते की जरासंध के साथ भीम ने अकेले युद्ध किया था वो भी अठारह....

The legend of saint bhringi of shiva अर्द्धनारीश्वर रूप के पीछे छुपे इस सत्य को जान आपकी रूह कांप उठेगी!

भगवान की महिमा अपने भक्तो से ही है, भगवान अपने से ज्यादा अपने भक्तो का गुणगान करने से अत्यधिक प्रसन्न होते है. ऐसे ही एक परम भक्त जिनकी महिमा हालाँकि उतनी नही

the panchkanya's of indian mythology, women remain idol although being of multi men पंचकन्या: शास्त्रो में वर्णित पांच औरते जो एक से ज्यादा पुरुषो की होके भी बनी आदर्श पत्निया!

इतिहास में ऐसी 5 औरतो का वर्णन है जो की एक से ज्यादा मर्दो की हुई लेकिन बावजूद इसके भी वो आदर्श नारी या पत्नी कहलाई है, उन पांच औरतो को ही पंचकन्या कहा जाता है.

holy amarnath travel is running, the story of name अमरनाथ की यात्रा है उफान पर, पर क्या आप जानते है नामकरण की कथा

एक बार पारवती देवी ने शिव शंकर से जबरदस्त तर्क वितर्क किये, उन्होंने महादेव को ताना भी मार की हर बार मुझे ही मारना पड़ता है फिर हजारो सालो की तपस्या करने पर ही.

Saturn temple worship over the years, making women priests वर्षों से कर रही शनि देव मंदिर की पूजा महिला पुजारी

आपके देखा ही होगा कि मंदिर में पूजा-अर्चना पुरुष ही करता है, पर एक शहर जहा वर्षो से एक महिला पूजा कर रही है और वो सब बातो से अनजान बस शनि देव की सेवा...

What really Hanuman Ramayana was written by the first or legendary facts क्या सच में सबसे पहले रामायण हनुमान जी ने लिखी थी या...पढ़ें पौराणिक तथ्य

हनुमान को शिवावतार या रुद्रावतार भी माना जाता है। रुद्र आंधी-तूफान के अधिष्ठाता देवता भी हैं और देवराज इंद्र के साथी भी। ये कोई नहीं जनता होगा कि रामकथा...

What is importance of Antim sanskara in hundutva! गरुड़ पुराण : मौत के बाद क्यों जल्दी रहती है लाश जलाने की, जाने क्या मायने है अंतिम संस्कार के?

हिन्दू धर्म में सोलह संस्कारो का विधान है जिसमे से सभी का महत्त्व है लेकिन जो अंतिम संस्कार है वो काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि तब मनुष्य मर चूका होता है! जाने ..

how much you know about king rawana रावण के थे 6 भाई, दो बहने, तीन पत्निया और सात पुत्र

दीपावली आने वाली है और हालही में दशहरा गया है जिस दिन भगवान राम ने रावण का संहार किया था, लेकिन आप कितना जानते है रावण और उसके परिवार के बारे में?

sad story of goddess sita's exile happened due to curse of sage bhrigu भृगु ऋषि के प्रार्थना करने पर श्रीराम ने स्वीकारी थी सीता जी की वनवास की इच्छा!

सिताजी के त्याग के सवाल पर श्री राम जी पर आज की मूर्क स्त्रियां या यूँ कहें की बकवादी लोग (जो हिन्दू धर्म से घृणा करते है ) ऊँगली उठाते है. जबकि शाश्त्र कहता ह

 Why did the war catastrophically Ganesha विभीषण ने गणेश जी से युद्ध क्यों किया था ! जाने

आज हम आपको एक ऐसी कथा के बारे में बता रहे है जिसके बारे आपने सुना नही होगा आपको पता एक बार विभीषण का युद्ध भगवान् गणेश से हुआ था इस युद्ध में गणेशजी की हार ....