Advertisement

सीता जी की सगी बहिन ही थी तुलसी, राक्षस से विवाह के बाद बन गई वृक्ष

"सुनकर शायद आश्चर्य हो लेकिन हक़ीक़त ये ही है, जनक जी का असली नाम जनक नहीं बल्कि शीरध्वज था और उनके भाई का नाम धर्मध्वज दोनों निसंतान थे! सूर्य द्वारा श्रापित था.."

Advertisement
अगर आप सोचते है की सीता जी के पिता का नाम राजा जनक है तो ये आप की भूल है, जैसे इक्ष्वाकु कुल के राजा रघु के नाम से श्रीराम रघुवीर या रघुनन्दन कहलाते है वैसे ही जनक जी के परिवार पे पैदा हुए हर राजा ने अपना नाम जन्म ही रखा था हालाँकि उनका असली नाम कुछ और ही था.

सीता जी के पिता राजा जनक का असली नाम सीरध्वज था जबकि उनके छोटे सगे भाई का नाम कुश ध्वज दोनों की ही दो दो बेटिया थी जिनका नाम सीता-उर्मिला और मांडवी, श्रुतकीर्ति था जो की दशरथ जी के चारो पुत्रो को ब्याही गई थी. अब आप सोच रहे होंगे की तुलसी कहा गई तो जाने उस बाद की भी सच्चाई...

अपने पहले भी वेदवती का आख्यान सुन रखा होगा जो की पहले जनक यानि की सिद्ध ध्वजा की बेटी थी उन्ही की एक और बेटी थी जिसका नाम तुलसी था. अर्थात वेदवती और तुलसी ये दोनों ही राजा जनक की बेटिया था हालाँकि ऐसा नहीं है की ये आसानी से पुत्री रूप में मिल गई थी इसके पीछे की कहानी जान कर ही आगे की कहानी समझ में आएगी.

राजा जनक के वंश की शुरुवात हुई थी राजा वृषध्वज से जो की शिव के भक्त थे, शिवजी उन्हें अपने पुत्र के समान मानते थे और उनके ही घर (महल में) महीनो रहते थे ....


image sources: nationalviews

लेकिन वृषध्वज को तब घमंड हो गया और वो तब अन्य देवो की अवहेलना और उनके पूजन में विघ्न डालने लगे तब सूर्य देव ने उनके कुल को श्री हिन् होने का श्राप दे दिया था. इस श्राप के प्रभाव से वृषध्वज के वंशज दरिद्र और संतान हिन् होने लगे थे और तब राजा जनक ने पुरुषार्थ दिखाया.

राजा जनक ने घोर तपस्या कर माता लक्ष्मी को अपने यंहा पुत्री रूप में पैदा होने का वरदान पाया और वेदवती के जनक के साथ ही उनके वंश का अभिशाप मिट गया. तब लक्ष्मी जी के है रूप में वेदवती जन्मी और लक्ष्मी जी के अंशभूत देवी तुलसी भी जन्मी, वेदवती का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि जन्म लेते ही वो वेद मंत्रो का उच्चारण करने लगी थी.

जन्म के साथ ही वो उठ कर खड़ी हो गई और तुरंत ही भगवान् विष्णु को तपस्या से पति रूप में पाने के लिए निकल गई, जबकि तुलसी भी भगवान् विष्णु को पति रूप में पाने के लिए निकल गई. 




image sources: quara

तब तुलसी और वेदवती को ब्रह्मा जी ने दर्शन दिए दोनों को ही अगले जन्म में विष्णु जी को पति रूप में मिलने का वरदान दिया, वेदवती ने रावण से बचने के लिए देह त्याग दी और जमीं से सीता रूप में जनक जी घर वापस पहुंच गई. वंही तुलसी का विवाह शंखचूड़ से हुआ जो की एक असुर था और श्रापित गोलोक का गोप था.

शंकचूड़ के वध के बाद देह त्याग के पश्चात् तुलसी ने पौधे के रूप में अवतरण किया और शालिग्राम रूपी विष्णु से विवाह कर सदा सर्वदा के लिए उन्ही की अर्धांगिनी हो गई. तुलसी की देह गंडकी नदी में अवतरित हो गई और उसी के पत्थरो को करोडो कीड़े काट काट कर शालिग्राम बना देते है दोनों की तुलसी श्याम रूप में घर घर पूजा होती है.

story sources: brahmavaivart Puran

Advertisement
Related Content

If you know of Mata Sita and unheard things interesting? क्या आप जानते है माता सीता से संबंधित रोचक एवं अनसुनी बातें? जानिए

आज भी काफी कम लोग यह जानते है की श्री रामचरित मानस और रामायण में कुछ बातें अलग है लेकिन कुछ बातें ऐसी है जिनका वर्णन सिर्फ...

How to use black magic जाने कैसे करे काले जादू और तांत्रिक विद्या का प्रयोग

तंत्र-मंत्र व काले जादू और तांत्रिक की प्रक्रिया देखने में जितनी ज्यादा जटिल होती है, करने में उस से भी ही सरल होती है। लोग जिस पर भी कालू जादू का इस्तेमाल करना

amazing spritual story of mahabharata हनुमान जी ने दिए थे भीम को अपने तीन बाल, लेकिन क्यों?

महायुद्ध समाप्त हो गया था, पांडव तब मजे से रह रहे थे तभी नारद मुनि आये और उन्होंने युधिष्ठर से कहा की स्वर्ग में आपके पिता पाण्डु दुखी है. कारन पूछने पर

the shiest sage of mahabharat time who use to mat with animals महाभारत काल के 1 ऋषि, शर्म के चलते करते थे जानवर बन जानवरो संग मिलन!

भारत का पौराणिक इतिहास अजीब से अजीब घटनाओ से ओतप्रोत है जो दी दूसरी संस्कृतीयो के लिए काल्पनिक है लेकिन हमारे लिए वो हमारा ही इतिहास है. ऐसी ही एक घटना पेश है.

donate parts of body after death, it give to heaven सतयुग से चला आ रहा है अंगदान, मुक्ति में बाधक नहीं सहायक है

ऑर्गन डोनेशन आज एक चर्चा का विषय बना हुआ है विदेशो में और नामी लोगो में तो ये ट्रेंड भी है पर धार्मिक मान्यताओ में अभी भी इसे स्थान नहीं मिला है।

Was valimiki wrote ramayan before it happened? घटित होने से पहले ही लिख दी थी वाल्मीकि जी ने रामायण, इसलिए हो रहे है विरोधाभास...

भारत में अब तक 300 अलग अलग रामायण लिखी जा चुकी है जिसमे से तुलसी की रामायण काफी लोकप्रिय है पर बाकियो ने वाल्मीकि रामायण को आधार माना इसलिए है इतने विरोधाभास...

Amazing saga of democracy in satyuga! राजधर्म : जाने क्या होता था त्रेतायुग में लोकतंत्र, जिसके कारण सीता जी चली गई थी वन में...

आज के लोकतंत और त्रेतायुग के लोकतंत्र में कोई तुलना नहीं है, अब तो लोग राजा की भी अवहेलना कर देते है और राजा प्रजा की लेकिन त्राता में ऐसा मर्यादित लोकतंत्र था

ganga dashahara celebration in india country wide आज है धरती पर गंगा नदी का जन्म दिन, गंगा दशहरा भी

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी को हस्त नक्षत्र में गंगा पृथ्वी पर अवतरित हुई थीं। अत: इस दिन को उनके नाम से गंगा दशहरा के रूप में जाना जाता है।

18 days was a war between Bhima, Jarasandha, the land of pilgrimage 18 दिनों तक भीम-जरासंध के बीच हुआ था युद्ध, तीर्थो की है भूमि

आपने पांडवो के भाई भीम के बारे में तो जानते ही होंगे लेकिन ये नहीं जानते की जरासंध के साथ भीम ने अकेले युद्ध किया था वो भी अठारह....

Sunny deol liplock scenes collection शर्मीले सनी पाजी भी नहीं है किसी से कम, एक नहीं दो नहीं कर चुके है इतने लिपलॉक के...

सोशल मीडिया पर आपने पढ़ा सुना होगा की पाकिस्तान की औरते सिर्फ सनी देओल को ही मर्द मानती है बाकि सब को पानी कम, हालाँकि सनी एक्शन में तो हिट पर रोमांस में पानी कम

the worst examination of the devotees from the lord krishna भक्तो से छल: माँ बाप को आरी से जिन्दा काटना पड़ा था अपने 3 साल के पुत्र को!

एक बार अर्जुन को अपने कृष्ण के सर्वश्रेष्ठ भक्त होने का घमंड हो गया, वो सोचता था की कृष्णा ने मेरा रथ चलाया मेरे पग पग पर सहायता की वो इस लिए की में परमभक्त हु.

Why women most affected from ghost attack? आखिर महिलाओ पर ही अमूमन क्यों हावी होते है भुत, जाने कारन और बचाव भी...

किन्तु परन्तु कितनी भी हो लेकिन सभी मानते है की भूतो का अस्तित्व है, बहुत कम लोगो को भूतो के होने का एहसास होता है और यकीन मानिये वो लोग काफी अलग होते है!.....

talent story of gods which was read in childhood school book स्कुल की किताबो में पढ़ी जाती थी, देवताओ की कहानिया अब सेकुलरिज्म में खो गई

स्कूल की किताबो में. देश भक्ति की और भारत के प्रमुख विचारको की, पर अब वो पाठ्यक्रम बंद हो गए है. मॉडर्निजेशन के चलते नहीं बल्कि सेकुलरिज्म के चलते.

The legend of saint bhringi of shiva अर्द्धनारीश्वर रूप के पीछे छुपे इस सत्य को जान आपकी रूह कांप उठेगी!

भगवान की महिमा अपने भक्तो से ही है, भगवान अपने से ज्यादा अपने भक्तो का गुणगान करने से अत्यधिक प्रसन्न होते है. ऐसे ही एक परम भक्त जिनकी महिमा हालाँकि उतनी नही

Epic Ramayana proofs at Srilanka! जय श्री राम: माता सीता के आंसुओ से बना तालाब, रावण का एयरपोर्ट आज भी है श्रीलंका में....

शास्त्रों की माने तो रामायण करीब 900000 साल पहले घटित हुई थी और महाभारत 5200 साल पहले जिसको न मानना है मत माने हम तो मानेंगे क्योंकि पग पग है साबुत मौजूद....

Bollywood top 10 controversial song lyrics बॉलीवुड के 10 सुपरहिट गाने जिनके बोलो पर हुआ जम के विवाद, अश्लीलता का लगा था आरोप...

राजकपूर, सुभाष है हो या आजादी के बाद की फिल्मे, जब फिल्म की सफलता में संशय होता है तो निर्माता उसमे अश्लीलता परोसते है! लेकिन सुपरहिट फिल्मो के गांव के बोल भी..

saint potter survived after being beneath of land for 1 year कुंवे को खोदते मिटटी में धंस गया था भक्त गोरा कुम्हार, एक साल बाद निकला जिन्दा

एक कुम्हार था नाम था गौरा, उसकी पत्नी का नाम था पूरी दोनों की भगवान में बड़ी आस्था थी, दोनों दिन में सिर्फ तीस बर्तन बनाते थे और उसके बाद भगवान की भक्ति में लग

hindu how to celebrate mahashivratri fast ऐसे मनाएं महाशिवरात्रि का व्रत

आज देशभर में महाशिवरात्रि का त्योहार मनाया जा रहा हैं। यह एकमात्र त्योहार है, जो शिव को समर्पित है। ऐसी मान्यता है कि आज ही के दिन शिव और पार्वती का विवाह हुआ था।

miracle happening again and again in assam kamkhya mandir असम के कामख्या मंदिर में लगने वाले मेले में होता है हर साल चमत्कार

मंदिर जाने और पूजन करने का विशेष महत्व माना गया है। लेकिन कुछ मंदिर ऐसे भी हैं, जो सिर्फ मनोकामना पूरी करने के लिए ही नहीं, बल्कि अपनी किसी अनोखी या चमत्कारिक व

how much location in our galaxy क्या आपको पता है जीवन और उसके बाद कितने तरह के होते है लोक, किनका है साम्राज्य?

मनुष्य और सभी सजीव प्राणी धरती पे रहते है जिनकी मृत्यु एक न एक दिन होनी है, लेकिन जब व्रक्ति की मौत होती है तो वो कंहा जाते है? ये शारीर तो नश्वर है लेकिन....

It really is also where the funeral pyre cremation is not never cool क्या सच में ऐसा श्मशान घाट भी है जहां चिता की आग कभी ठंडी नहीं होती

वाराणसी कशी के लिए फेमश है! यहां मृत्यु को प्राप्त होने वाले को सीधे ही मोक्ष मिलता है। और वही ये दुनिया का एकमात्र यह ऐसा घाट...

budhha's student lived 4 months in prostitute's house जब चार महीने तक वैश्यालय में रहा बुद्ध का चेला!

आम्रपाली का नाम आपने सुन ही रखा होगा, उसके माता पिता के बारे में इतिहास में कोई उल्लेख नही है पर इतना पता है की वो एक आम के पेड़ के निचे रखी मिली थी. जिस दम्पति

sad story of goddess sita's exile happened due to curse of sage bhrigu भृगु ऋषि के प्रार्थना करने पर श्रीराम ने स्वीकारी थी सीता जी की वनवास की इच्छा!

सिताजी के त्याग के सवाल पर श्री राम जी पर आज की मूर्क स्त्रियां या यूँ कहें की बकवादी लोग (जो हिन्दू धर्म से घृणा करते है ) ऊँगली उठाते है. जबकि शाश्त्र कहता ह

shravan mas of lord shiva to get goodluck with limited works शिव का श्रावण मास लाइफ को बनाये सुपरलाइफ, कुछ आसान उपाय

श्रावण मास के शुरू होते ही भक्त कावड़िये जल लेके अपने भोलेनाथ को मानाने के लिए निकल पड़ते है पूरी श्रद्धा से, जगह जगह डीजे की आवाजे आपके कानो में पड़ती होगी तो.