Advertisement

12 वर्षो तक गर्भ में रहे थे ऋषि पराशर, वंही हो गए थे वेदो के पारंगत...

"विश्वामित्र और वसिष्ठ की शत्रुता की कहानिया तो आपने सुन ही रखी होगी, इसी के चलते विश्ममित्र ने कल्माषपाद नाम के राजा से जो की बाद में राक्षस हो गया था ऋषि के..."

Advertisement
राजा राम के पूर्वजो में एक राजा थे उनका नाम था कल्माषपाद, उनका सामना एक बार वसिष्ठ ऋषि के पुत्र शक्ति से हो गया! क्षत्रियो और ब्राह्मणो में ये नियम है की अपने से कम को आने-जाने के लिए रास्ता न दे, इस वजह से शक्ति को राजा ने रास्ता नहीं दिया.

बस फिर क्या था शक्ति ने राजा को राक्षस होने का श्राप दे दिया, लेकिन विश्वामित्र ने इसे एक मौका समझा वसिष्ठ से बदला लेने का. विश्वामित्र के चढ़ाने पर कल्माषपाद नाम के उस राक्षस ने शक्ति समेत वसिष्ठ के सभी पुत्रो को अपना ग्रास बना लिया, वसिष्ठ जी को ये जान कर बहुत दुःख हुआ. 

image sources: wikipedia

लेकिन उन्होंने सब कुछ जानते हुए भी इसे होनहार मानकर स्वीकार किया लेकिन पुत्रो की मौत से हुए वंश विनास से शोक ने उन्हें घेर लिया और वो आत्महत्या का प्रयास करने लगे. इसी दौरान उनके पीछे एक औरत चलने लगी और उन्हें वेद वाक्यों का उच्चारण भी सुनाई देने लगा.

वसिष्ठ ने स्त्री से उसका परिचय पूछा और कहा की मेरे पीछे क्यों आ रही हो, तब उस स्त्री ने खुद को उनके बड़े पुत्र शक्ति की पत्नी बताया. वेद वाक्यों के विषय में पूछे जाने पर उनकी बहु ने कहा की उनका पौत्र गर्भ में वेदाभ्यास कर रहा है, इतना सुनते ही वसिष्ठ ने आत्महत्या का मन त्याग दिया और अपनी बहु के साथ आश्रम लौट आये.

12 वर्षो के गर्भ के बाद जन्मा वसिष्ठ ऋषि का पौत्र नाम था पराशर...

story sources: Mahabharat

Advertisement
Related Content

Had you fully understand character of goddess sita? कर्मयोगिनी : क्यों सतीयो में श्रेष्ठ्तम थी माता सीता, जाने उनका संक्षिप्त चरित्र....

अरुंधति, अनुसूया हो या सावित्री पतिव्रता नारियो ने उनके सम्मान को सर्वोच्च शिखर पर स्थापित कर दिया है, लेकिन इस पर भी इन सभी सतीयो में सीता जी की तुलना नहीं है

the real story behind shakuni in mahabharata द्वापरयुग का अवतार था शकुनि, चाणक्य ने मरवाया था उसके वंशजो को!

ज्यादातर लोग शकुनि को महाभारत में के खलनायक सहयोगी ही मानते है लेकिन क्या आपको पता है की शकुनि के रूप में द्वापर युग ने जन्म लिया था.

8 Reasons why the snake is really what Dnsne क्या सच में सांप के डंसने के यही 8 कारण है क्या?

सांप कभी भी किसी बिना वजह के कभी भी नहीं डंसता है। सांप के एक बूंद जहर से भी कई इंसानों को मृत्यु के घाट उतार सकता है। सांप...

Bhishm told draupadi reason to not protect her from dushashana बाणो की शैय्या पर सोये भीष्म ने बताया द्रौपदी के चीर हरण को ना रोक पाने का कारण

पांचों भाई और द्रौपदी चारों तरफ बैठे थे और पितामह उन्हें उपदेश दे रहे थे। सभी श्रद्धापूर्वक उनके उपदेशों को सुन रहे थे कि अचानक द्रौपदी खिलखिलाकर हंस पड़ी।

the only woman devotee of lord hanumana हनुमान जी की एकमात्र महिला भक्त की कहानी, क्या सुनी है आपने?

हालाँकि उसके नाम के बारे में कोई पुष्टि नहीं है, लेकिन भारत की लोक कथाओ में उसका वर्णन है जो की बजरंगी की एकमात्र महिला भक्त हुई थी. कथा कलियुग के प्रारम्भ...

sixth queen of krishana from the ashthbharyam nagnajiti सात सांडो के नाक से नाक छू कर जीता कृष्ण ने नागनजीति का स्वयंवर

द्वापर में नग्नजित नाम का एक सात्विक राजा था उसकी पुत्री का नाम था नाग्नजिति वो मन ही मन में कृष्णा को अपना पति मान लिया था.

what will be done with souls after death according to garud purana मौत के 1 साल बाद तक चलती है जीवात्मा की पेशी, फिर मिलता है एक फुट का शरीर!

जब व्यक्ति की मौत होती है तो घर वाले शोक मनाते है, पार्थिव शरीर को नहला धुल कर जल्दी से जल्दी उसका अंतिम संस्कार कर देते है साथ ही बारहवा भी करते है. लेकिन

droyonachary killed by dhrithdyumy prince of drupad धृष्टधृम्य ने क्यों मार द्रोणाचार्य को? द्रौपदी का असली नाम था कृष्णा

एक बार की बात है महाभारत में द्रुपद देश के राजाद्रुपद ने गुरु द्रोणाचार्य को बड़ा ही अपमानित कर दिया था. गुरु दक्षिणा में राजा द्रुपद को बंदी बनाकर लाने को कहा.

king nriga freed by krishna form the curse of sage गाय दान देने पर राजा को मिला श्राप, सूखे कुए में छिपकली बन रहना पड़ा सदियों तक

एक दानवीर राजा था नाम था नृग, वो अपने दर पे आये किसी को भी खली नहीं जाने देता था. एक बार राजन ने एक ब्राह्मण को गाय दान दी जिससे ब्राह्मण प्रसन्न हो गया.

karna was an pure villain in mahabharata महाभारत: सूतपुत्र कर्ण के इन कुकर्मो को जान के आप भी कहेंगे उसे खलनायक...

शूरवीर कर्ण, दानवीर कर्ण, अंगराज कर्ण ये सब उपाधिया सुन सबको ये ही लगने लगा था की कर्ण एक वीर था, लेकिन जिसने असल महाभारत पढ़ी है वो उसपे जरूर थूँकेगा! Villain..

vaastu cast an evil eye on the house घर बनाते समय इन बातो का रखे ध्यान नही होगी कोई परेशानी

जब लोग घर बनवाते वक्त वास्तु जैसी बातो यकीन न कर कुछ ऐसी गलतिया कर बैठते हे जो उनके और उनके मकान के लिए हानिकर साबित हो जाती हे !

story of sage krithu who were friend of lord madeva शिव के मित्र थे ऋषि क्रथु, की उदंडता तो शिवगणों ने निकाल लिए अंडकोष!

भारतीय शास्त्रो में एक प्रजापति (ऋषि) थे नाम था क्रथु वो शिव के मित्र थे घनिष्ठता इतनी की शिव ने अपने पशुपति की जिम्मेदारी भी उन्हें दे दी थी लेकिन शिव के ससुर

the mystery of sons of draupadi named panchali 5 पतियों में बांटी गई थी द्रोपदी, फिर कैसे पता चला पुत्रो का की कौन किसका है?

उन्होंने बताया पिछले जन्म का रहस्य के द्रौपदी ने शिव से की थी बलशाली पति की मांग जो की एक व्यक्ति में होना असंभव था इस पर महादेव ने दिया पांचाली बनने का वरदान.

Gopi bahu or devoleena turn bolder than bold गोपी बहु का ये अवतार देख कर छूट जायेंगे आपके भी पसीने, देखे फ्रेश फोटो शूट...

साथ निभाना सठिया की गोपी बहु को हालही में प्रधानमंत्री जी से स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ने की चिट्ठी मिली है, लेकिन उसके तुरंत बाद ही उनके फ्रेश फोटोशूट ने हलचल

pehredar piya ki fame turn attraction in social media 9 साल के लड़के से शादी करने के बाद काफी पॉपुलर हो गई है ये लड़की....

आज के समय में जब बालविवाह पर पूर्ण प्रतिबन्ध है और ऐसे में भी अगर कोई कुंवारी अठारह साल की लड़की किसी 9 साल के बच्चे से शादी करके तो हंगामा होना तय ही था लेकिन..

After all even after prayers are uttered mantra Krpurgurn आखिर कर्पूरगौरं मंत्र आरती के बाद ही क्यों बोला जाता है

मंदिर या घर में जब भी कोई पूजन करवाते है तो वहां पंडित द्वारा कुछ मंत्रों का जप करता है और वो...

the panchkanya's of indian mythology, women remain idol although being of multi men पंचकन्या: शास्त्रो में वर्णित पांच औरते जो एक से ज्यादा पुरुषो की होके भी बनी आदर्श पत्निया!

इतिहास में ऐसी 5 औरतो का वर्णन है जो की एक से ज्यादा मर्दो की हुई लेकिन बावजूद इसके भी वो आदर्श नारी या पत्नी कहलाई है, उन पांच औरतो को ही पंचकन्या कहा जाता है.

What to do in dying moment for good end? गरुड़ पुराण : मरते वक्त अगर करे ये काम तो अवश्य ही मिलेगा स्वर्ग....

जिंदगी भर मनुष्य अपनी भोग विलास की आवश्यकताओं के लिए हाथ पैर मारता है, लेकिन जब उसे पता चलता है की वो मरने वाला है या यूँ कहें की जब मौत आने वाली होती है तब वो

Nepotism in bollywood full story! Nepotist : सलमान, आमिर हो या सैफ जाने इन्हे क्यों मिला बॉलीवुड में मौका क्या था कनेक्शन

बॉलीवुड में नेपोटिस्म की बहस जारी है जिसमे बॉलीवुड में व्याप्त भाई भतीजावाद पर बहस छिड़ी हुई है, जाने आखिर क्या है ये क्यों मिला आमिर सलमान को मौका औरो को नहीं??

happy krishna janmashthami to all indians कृष्ण जन्म के समय हुए थे ये चमत्कार!

हिन्दू कैलेंडर के भाद्रपद की कृष्णपक्ष की अष्ठमी को मध्यरात्रि में अभिजीत नक्षत्र में हुआ था, रात में तेज बारिश हो रही थी और बिजलिया चमक रही थी तब भगवान विष्णु

an temple in rajasthan where byke is devoted वाहन चालकों के लीये अवतार है ये देव, होती है बुलेट की पूजा

जोधपुर से पचास किमी पर जोधपुर-पाली मेगाहाईवे पर चोटिला ग्राम के पास हैं। यहाँ पर एक पेड़ के नीचे बानी एक चौकी पर बन्ना कि तस्वीर रखी हैं, और ज्योत जलती रहती है

Know some amazing facts about husband fast Amazing : पति विदेश जाने पर सालो साल नहाती तक नहीं थी पति व्रत ली हुई औरते....

भारतीय आध्यात्मिक (स्पिरिचुअल हिस्ट्री) में अनेकोनेक उदहारण है जिसमे पति को पत्नी ने तार दिया हो, किसी ने पति को प्राण बचाये तो किसी ने नरक से. पतिव्रत से ही वो

Saga of best all time wife sati arundhati! शिव के लिए बनानी थी रसोई, लकडिया ख़त्म हो गई तो अपने पैर चूल्हे में दे दिए थे इस सती ने

भारत वर्ष तपस्या त्याग और बलिदानो की धरती है, इसमें ऐसे ऐसे उदहारण हुए है जिसे सुन कर ही लोगो के पसीने छूट जाते है, जाने ऐसे ही कथा एक ऐसी स्त्री की जिसने अपने

Amazing lord shiva's story of marriage with parvati! प्रेमविवाह करने वाली सन्तानो को जरूर पढ़नी चाहिए माता पार्वति और शिव के विवाह की रोमांचकारी कथा

आज के परिपेक्ष्य में भले हो लोगो को ये विचार दकियानूसी लगे लेकिन अगर आपकी थोड़ी भी परमात्मा में आस्था है तो ये शिव पार्वती की कथा आपको जरूर पढ़नी चाहिए, क्योंकि..